scorecardresearch
 

खाने की चीजों और दवाइयों की आपूर्ति के लिए कल से चलेंगे 2 लाख ट्रक

जब 24 मार्च को पीएम मोदी ने देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान किया था, उसी दिन से ये ट्रक बंद थे और सिर्फ 20 से 25 हजार ट्रक ही चल रहे थे. एक अप्रैल को करीब डेढ़ लाख ट्रक चले. अब गुरुवार से 2 लाख ट्रक चलेंगे, ताकि देशभर में लोगों के खाने-पीने की चीजों और दवाइयों की कमी न हो पाए.

सांकेतिक तस्वीर (Courtesy- PTI) सांकेतिक तस्वीर (Courtesy- PTI)

  • पीएम मोदी के लॉकडाउन के ऐलान के बाद बंद हो गए थे ट्रक
  • खाद्य वस्तुओं और दवाइयों की आपूर्ति के लिए बनाई गईं टीमें

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग जारी है. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को हराने के लिए मोदी सरकार ने 21 दिन के लिए देशव्यापी लॉकडाउन कर दिया है, जो 14 अप्रैल तक चलेगा. लॉकडाउन के चलते लोग घर के अंदर बंद हो गए हैं. बाजार बंद हैं और सड़कें वीरान हो गई हैं. लॉकडाउन के दौरान रोजमर्रा की चीजों की कमी न हो पाए, इसके लिए सरकार पूरी कोशिश कर रही है.

मोदी सरकार ने सभी लोगों तक खाने-पीने के जरूरी सामान और दवाइयां पहुंचाने के लिए गुरुवार से देशभर में 2 लाख ट्रकों को फिर से सड़क पर दौड़ाने जा रही है. पीएमओ ने दवाइयों और खाने-पीने की जरूरी चीजों की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए टीमों का भी गठन किया है. ये टीम सभी लोगों तक दवाइयां और खाने-पीने की चीजें पहुंचाने के लिए काम कर रही हैं.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

लॉकडाउन के दौरान पीएमओ की ये टीमें दिनभर दिए गए टास्क को पूरा करने के लिए काम करेगी और फिर शाम को मीटिंग करेंगी. इसके बाद रोजाना इसकी रिपोर्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी जाएगी. फिर पीएम मोदी अपनी टीम के साथ इसकी समीक्षा करेंगे.

आपको बता दें कि जब 24 मार्च को पीएम मोदी ने देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान किया था, उसी दिन से ये ट्रक बंद थे और सिर्फ 20 से 25 हजार ट्रक ही चल रहे थे. एक अप्रैल को करीब डेढ़ लाख ट्रक चले. अब गुरुवार से 2 लाख ट्रक चलेंगे, ताकि देशभर में लोगों के खाने-पीने की चीजों और दवाइयों की कमी न हो पाए.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

वहीं, हिंदुस्तान में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ने दुनियाभर को अपनी चपेट में ले लिया है. भारत समेत विश्वभर में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. इस जानलेवा महामारी की सबसे ज्यादा चपेट में इटली है, जहां मरने वालों की संख्या सबसे ज्यादा है. इसके बाद स्पेन और फिर तीसरे नंबर पर फ्रांस है. वहीं, कोरोना से मरने वालों की संख्या के मामले में चीन का नंबर चौथा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें