scorecardresearch
 

सोनिया के आवास पर आज कांग्रेस की बैठक, शिवसेना को समर्थन देने पर होगी बात

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शरद पवार से बात की है. पार्टी एनसीपी के साथ आगे की चर्चा करेगी. इससे पहले, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सरकार को समर्थन देने के बारे में सोनिया गांधी से फोन पर बात की थी.

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की फाइल फोटो (IANS) कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की फाइल फोटो (IANS)

  • कांग्रेस शिवसेना को समर्थन देने जा रही है या नहीं, इस पर सस्पेंस
  • एनसीपी महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कर रही है विचार

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के दिल्ली स्थित आवास पर मंगलवार को कांग्रेस कोर ग्रुप की बैठक है. बैठक में महाराष्ट्र को लेकर चर्चा होगी. महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर गतिरोध जारी है. सरकार बनाने के लिए कांग्रेस शिवसेना को समर्थन देगी या नहीं, फिलहाल इस पर सस्पेंस बना हुआ है. ऐसी अटकलें हैं कि कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के समर्थन से एनसीपी महाराष्ट्र में सरकार बना सकती है.

बता दें, शिवसेना जहां एक ओर महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए तैयार बैठी दिखाई दे रही है, वहीं कांग्रेस पार्टी शिवसेना को समर्थन देने जा रही है या नहीं, इसे लेकर भ्रम की स्थिति बनी हुई है. सोमवार दिनभर इस बाबत कांग्रेस की कई बैठकें हुईं. पार्टी ने बयान जारी कर कहा कि वह अपनी सहयोगी एनसीपी से इस पर चर्चा करेगी. एनसीपी राज्य में शिवसेना को समर्थन देने पर विचार कर रही है.

इससे पहले सोमवार को सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के बाद पार्टी ने बयान जारी कर कहा, महाराष्ट्र की स्थिति पर विस्तृत चर्चा करने के लिए कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक सोमवार को हुई, जिसके बाद महाराष्ट्र कांग्रेस नेताओं के साथ एक परामर्श आयोजित किया गया. कांग्रेस अध्यक्ष (सोनिया गांधी) ने शरद पवार से बात की है. पार्टी एनसीपी के साथ आगे की चर्चा करेगी. इससे पहले, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सरकार को समर्थन देने के बारे में सोनिया गांधी से फोन पर बात की थी.    

उधर महाराष्ट्र के राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी ने सोमवार देर शाम एनसीपी को राज्य में अगली सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया. पार्टी प्रवक्ता नवाब मलिक ने मीडियाकर्मियों से कहा, राज्यपाल ने हमारे प्रतिनिधिमंडल को आमंत्रित किया है और संकेत है कि एक आमंत्रण पत्र हमें दिया जाएगा. कल (मंगलवार) हम अगली सरकार बनाने के तौर-तरीकों पर कांग्रेस के साथ चर्चा करेंगे. इसके पहले रविवार को बीजेपी ने सरकार बनाने से इंकार कर दिया था और सोमवार को शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के समर्थन का पत्र नहीं दे सकी. इसके बाद एनसीपी को दावा पेश करने का मौका दिया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें