scorecardresearch
 

बंगाल में बवाल जारी, ममता को जय श्री राम लिखे 10 लाख पोस्ट कार्ड भेजेगी बीजेपी

अर्जुन सिंह के मुताबिक बीजेपी कार्यकर्ताओं को जय श्री राम बोलने के कारण गिरफ्तार किया गया, इसलिए उनकी पार्टी जय श्री राम लिखे 10 लाख पोस्टकार्ड ममता बनर्जी को भेजेगी.

बंगाल में बीजेपी का प्रदर्शन (फाइल फोटो) बंगाल में बीजेपी का प्रदर्शन (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल में जय श्री राम के नारे पर विवाद तूल पकड़ता जा रहा है. शनिवार को उत्तर 24 परगना जिले के कांचरापाड़ा में तृणमूल कांग्रेस की बैठक से पहले प्रदर्शन कर जय श्री राम के नारे लगाने वाले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कार्यकर्ताओं को खदेड़ने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया. इस घटना के बाद बंगाल बीजेपी ने ममता बनर्जी को जय श्री राम लिखे 10 लाख पोस्टकार्ड भेजने का फैसला किया है. बैरकपुर से नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह ने इसकी जानकारी दी.

कांचरापाड़ा में शनिवार को बीजेपी कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे. पुलिस प्रशासन ने इन कार्यकर्ताओं को वहां से हटाने की कोशिश की क्योंकि प्रदर्शन वाली जगह पर तृणमूल के कुछ मंत्रियों समेत उसके नेताओं का काफिला आने वाला था. कोई बड़ी घटना न हो, इसके लिए पुलिस ने जबरन बीजेपी कार्यकर्ताओं को वहां से खदेड़ दिया और हालत पर काबू पाने के लिए वहां त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) को तैनात कर दिया गया. ममता सरकार की इस कार्रवाई को बीजेपी ने गंभीरता से लिया. सांसद अर्जुन सिंह के मुताबिक बीजेपी कार्यकर्ताओं को जय श्री राम बोलने के कारण गिरफ्तार किया गया, इसलिए उनकी पार्टी जय श्री राम लिखे 10 लाख पोस्टकार्ड ममता बनर्जी को भेजेगी.

हालिया लोकसभा चुनाव में अर्जुन सिंह चर्चित बैरकपुर सीट से जीत कर आए हैं. उन्होंने ममता बनर्जी के करीबी नेता दिनेश त्रिवेदी को हराया है. अर्जुन सिंह इससे पहले टीएमसी के विधायक थे लेकिन चुनाव से ठीक पहले बीजेपी में शामिल हो गए. घटना के बारे में अर्जुन सिंह ने इंडिया टुडे से कहा, 'अगर आप इसे (24 परगना) नंदीग्राम बनाना चाहते हैं तो हम इसके लिए तैयार हैं. हमने यहां विरोध प्रदर्शन इसलिए किया क्योंकि जब भी हम जय श्री राम बोलते हैं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पुलिस से हमें गिरफ्तार करने के लिए बोलती हैं. क्या वे प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति हैं और ये लोग (बीजेपी कार्यकर्ता) देश विरोधी हैं जिन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए? ममता बनर्जी अपना दिमागी संतुलन खो चुकी हैं.'

मुख्यमंत्री दफ्तर में भेजेंगे 10 लाख पोस्ट कार्ड

बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने कहा, 'हम इश्वर से प्रार्थन करेंगे कि उन्हें ठीक रखें. हमने फैसला किया है कि जय श्री राम लिखे 10 लाख पोस्टकार्ड मुख्यमंत्री दफ्तर में भेजेंगे. अगर वे मुख्यमंत्री के तौर पर यहां आती हैं तो हमें कोई एतराज नहीं लेकिन किसी पार्टी नेता के तौर पर माहौल गरमाने आती हैं तो इसे हम स्वीकार नहीं करेंगे.'

कांचरापाड़ा में शनिवार को बीजेपी कार्यकर्ता कुछ टीएमसी नेताओं के सामने जय श्री राम के नारे लगा रहे थे. इन नेताओं में बंगाल के खाद्य मंत्री ज्योतिप्रिया मुलिक, मदन मित्रा और तपस राय शामिल थे. कांचरापाड़ा में टीएमसी नेता अपने पार्टी दफ्तर पर कब्जा जमाने गए थे जिसे कथित तौर पर बीजेपी ने हथिया लिया है. इस दौरान दोनों ओर से विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया और बाद में पुलिस प्रशासन को कार्रवाई करनी पड़ी. कांचरापाड़ा बैरकपुर संसदीय क्षेत्र में पड़ता है जहां से अर्जुन सिंह जीत कर आए हैं.

विरोध प्रदर्शन के कारण को विस्तार से समझाते हुए बीजेपी के एक कार्यकर्ता ने कहा, "कांचरापाड़ा थाना मोरे में स्थित पार्टी कार्यालय शुभ्रांशु रॉय (बीजेपी नेता मुकुल रॉय के बेटे) का है. उनके बीजेपी में जाने के बाद तृणमूल पार्टी कार्यालय पर कब्जा करना चाहती है लेकिन हम यह नहीं होने देंगे.'' राज्य के खाद्य और आपूर्ति मंत्री ज्योतिप्रियो मुलिक ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को असभ्य और बर्बर बताया. उस क्षेत्र से मुलिक की कार गुजरी थी.

शुभ्रांशु रॉय के बारे में मुलिक ने कहा, "वे गद्दार हैं, मैं यह सौ बार कहूंगा. गद्दार का कोई चरित्र नहीं होता. हम जंग जारी रखेंगे." उन्होंने कहा, "वह एक बच्चे हैं और अभी तक समझदार नहीं हुए हैं. वे सिर्फ 2019 देख रहे हैं और 2022-.2024 नहीं देख रहे. उनके पिता अपने बेटे को लड़ने के लिए आगे कर रहे लेकिन इस तरीके से वह तृणमूल को खत्म नहीं कर सकते."

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें