scorecardresearch
 

पढ़ें, बुधवार सुबह की 5 बड़ी खबरें

अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती भी शामिल होंगी. यह जानकारी उन्होंने ट्वीट करके दी. उमा भारती ने कहा कि मैं मर्यादा पुरुषोत्तम राम की मर्यादा से बंधी हूं. मुझे रामजन्मभूमी न्यास के वरिष्ठ अधिकारी ने शिलान्यास स्थली पर उपस्थित रहने का निर्देश दिया है, इसलिए मैं कार्यक्रम में उपस्थित रहूंगी. पढ़ें, बुधवार सुबह की 5 बड़ी खबरें.

उमा भारती की फाइल फोटो उमा भारती की फाइल फोटो

अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती भी शामिल होंगी. यह जानकारी उन्होंने ट्वीट करके दी. उमा भारती ने कहा कि मैं मर्यादा पुरुषोत्तम राम की मर्यादा से बंधी हूं. मुझे रामजन्मभूमी न्यास के वरिष्ठ अधिकारी ने शिलान्यास स्थली पर उपस्थित रहने का निर्देश दिया है, इसलिए मैं कार्यक्रम में उपस्थित रहूंगी. पढ़ें, बुधवार सुबह की 5 बड़ी खबरें.

1-अब भूमिपूजन में शामिल होंगी उमा भारती, कहा- मैं राम की मर्यादा से बंधी हूं

इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा था कि भूमि पूजन के मेहमानों की लिस्ट से मेरा नाम हटा दें. उन्होंने कहा था कि वो अयोध्या के भूमि पूजन कार्यक्रम में तो आएंगी, लेकिन मंदिर स्थल पर ना रहकर सरयू नदी के तट पर रहेंगी.

2-त्रेतायुग की थीम, रामधुन में मग्न भक्त, भूमिपूजन के लिए ऐसे सजी है अयोध्या नगरी

जैसे-जैसे राम मंदिर के भूमिपूजन की घड़ी नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे अयोध्यावासियों का उल्लास और उत्साह बढ़ता जा रहा है. आम लोग हों या साधु संत, सभी इस पल को लेकर आह्लादित हैं. अयोध्या में सभी ओर जश्न का माहौल है. पूरी अयोध्या नगरी को त्रेतायुग की थीम पर सजाया गया है.

3-J-K को 370 से 'आजादी' का एक साल, कश्मीरियत के नाम पर अब नहीं चलेगी सियासत

सेल्फ रूल और ऑटोनामी... ये दो ऐसे पॉलिटिकल टर्म हैं, जिसके इर्द-गिर्द जम्मू-कश्मीर की मुख्यधारा की दो बड़ी पार्टियां पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने बरसों तक राजनीति की. दोनों का मकसद एक ही, कश्मीरियत. यानी, जम्मू-कश्मीर में बाहरी हस्तक्षेप कम से कम हो.

4-मोहन भागवत से लेकर इकबाल अंसारी तक, भूमिपूजन की ये है गेस्ट लिस्ट

राम जन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम में बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी को भी न्योता दिया गया है. अवधेशानंद, स्वामी रामदेव, चिदानंद मुनि, साध्वी ऋतंभरा, पुज्य परमानंद जी महाराज, राघवाचार्य, महामंडलेश्वर अखिलेशानंद, डॉ. श्यामदेव देवाचार्य, जगदगुरु रामानंदाचार्य समेत कई साधु-संत भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे.

5-राम मंदिर भूमि पूजन का ये है शुभ मुहूर्त, जानिए 32 सेकेंड क्यों हैं खास

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरी महाराज के मुताबिक, बुधवार की सुबह 11.40 बजे के बाद के अगले 32 सेकेंड बेहद शुभ हैं. इसी शुभ घड़ी में भूमिपूजन का कार्य संपन्न किया जाएगा. स्वामी गोविंद देव गिरी महाराज ने 'आजतक' से विशेष बातचीत में कहा कि ये मंदिर सिर्फ पुनर्निर्माण नहीं बल्कि राष्ट्र के चैतन्य की पुनः प्रतिष्ठापना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें