scorecardresearch
 

असम: सड़क पर जूनियर डॉक्टर, साथी के हत्यारोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

असम के डिब्रूगढ़ में रविवार रात जूनियर डॉक्टरों ने प्रदर्शन किया. दरअसल, शनिवार को असम के जोरहाट में 73 साल के एक डॉक्टर को मरीज के परिजनों ने पीट-पीट कर मार डाला. ये डॉक्टर एक टी एस्टेट के अस्पताल में तैनात था. डॉक्टर की हत्या के विरोध में जूनियर डॉक्टरों ने कैंडिल मार्च निकालकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

विरोध में जूनियर डॉक्टरों ने कैंडिल मार्च निकाला (ANI) विरोध में जूनियर डॉक्टरों ने कैंडिल मार्च निकाला (ANI)

  • जोरहाट में एक बुजुर्ग डॉक्टर को मरीज के परिजनों ने पीट-पीट कर मार डाला
  • हत्या के विरोध में जूनियर डॉक्टरों ने मार्च निकाला और कार्रवाई की मांग की

असम के डिब्रूगढ़ में रविवार रात जूनियर डॉक्टरों ने प्रदर्शन किया. दरअसल, शनिवार को असम के जोरहाट में 73 साल के एक डॉक्टर को मरीज के परिजनों ने पीट-पीट कर मार डाला. ये डॉक्टर एक टी एस्टेट के अस्पताल में तैनात था. डॉक्टर की हत्या के विरोध में जूनियर डॉक्टरों ने कैंडिल मार्च निकालकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

बता दें, जोरहाट चाय बागान में काम करने वाला 33 साल का एक मजदूर अस्पताल में भर्ती था. इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई, जिसके बाद चाय बागान के मजदूरों ने अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की और डॉक्टर की पिटाई कर दी. लहूलुहान डॉक्टर देवेन दत्ता को जोरहाट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया.

बहरहाल इस बीच, असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने घटना की निंदा करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने ट्वीट किया कि हम यह बर्दाश्त नहीं करेंगे कि कोई भी कानून अपने हाथों में ले और जिला प्रशासन को दोषियों के खिलाफ फौरन कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें