scorecardresearch
 

CAA विवाद का फायदा उठाने की फिराक में पाक, आतंकियों की घुसपैठ कर सकता है तेज!

खुफिया एजेंसियों ने बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स और पंजाब पुलिस को अलर्ट किया है कि पंजाब से लगती सरहद से घुसपैठ की कोशिशें तेज होने का खतरा है.

सीमा क्षेत्र में तैनात BSF जवान (फोटो- PTI) सीमा क्षेत्र में तैनात BSF जवान (फोटो- PTI)

  • राजस्थान, जम्मू और कश्मीर, गुजरात में अलर्ट जारी
  • फायदे के लिए खुराफात कर सकता है पाकिस्तान

खुफिया एजेंसियों ने बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) और पंजाब पुलिस को अलर्ट किया है कि पंजाब से लगती सरहद से घुसपैठ की कोशिशें तेज होने का खतरा है. देश में नागरिक संशोधन कानून (CAA) पर कुछ जगहों पर विरोध को देखते हुए पाकिस्तान मौके का फायदा उठाने के लिए कोई भी खुराफात कर सकता है.

BSF और पंजाब पुलिस के अधिकारियों ने एक बैठक के बाद भारत-पाक सीमा पर चौकसी बढ़ाने के साथ तलाशी अभियान तेज कर दिया है.

सीमावर्ती जिलों में रात को पेट्रोलिंग बढ़ाने के साथ असामाजिक तत्वों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है. इंटेलीजेंस सूत्रों के मुताबिक ऐसे ही अलर्ट राजस्थान, जम्मू और कश्मीर, गुजरात को भी जारी किए गए हैं.

भारत और पाकिस्तान के बीच 3,000 किलोमीटर लंबी सीमा में से 550 किलोमीटर हिस्सा पंजाब से सटा है. बता दें कि कुछ समय पहले तस्करों से गोला बारूद, हथियार और नशीले पदार्थ बरामद होने के बाद पंजाब पहले से ही अलर्ट पर है. इसके लिए तस्करों की ओर से ड्रोन का इस्तेमाल होने की घटनाएं भी सामने आ चुकी हैं.

कड़ाके की ठंड पड़ने की वजह से संवेदनशील क्षेत्रों में पेट्रोलिंग आसान नहीं होती. कोहरे की वजह से दृश्यता भी बहुत कम होती है.

पंजाब पुलिस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि जम्मू और कश्मीर में सुरक्षा बलों की बड़ी तैनाती के बाद पंजाब में सरहद से घुसपैठ का खतरा बढ़ गया है.

आतंकियों और तस्करों से बरामद सैटेलाइट फोन्स से साफ हुआ कि बरामद की गई खेप जम्मू और कश्मीर में सक्रिय आतंकवादी गुटों के लिए थीं. ये संभव है कि तस्करों के जरिए पंजाब रूट का इस्तेमाल इसलिए किया गया क्योंकि जम्मू और कश्मीर में मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं निलंबित होने की वजह से वहां सक्रिय आतंकी संगठनों से सरहद पार से संपर्क मुश्किल हो गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें