scorecardresearch
 

घाटी में बर्फबारी से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद

कश्मीर घाटी में भारी हिमपात की वजह से जम्मू कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग और स्कूलों को बंद कर दिया गया. गर्मियों में विरोध प्रदर्शन और पत्थरबाजी के कारण स्कूल बंद रहे थे जिसकी भरपाई के लिये उन्हें खोले रखा गया था.

कश्मीर घाटी में भारी हिमपात की वजह से जम्मू कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग और स्कूलों को बंद कर दिया गया. गर्मियों में विरोध प्रदर्शन और पत्थरबाजी के कारण स्कूल बंद रहे थे जिसकी भरपाई के लिये उन्हें खोले रखा गया था.

आपदा प्रबंधन सेल के समन्वयक आमिर अली ने कहा, ‘घाटी में भारी बर्फबारी के कारण जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को यातायात के लिये बंद कर दिया गया है.’ उन्‍होंने कहा कि 1.25 फुट से भी ज्यादा मोटी बर्फ कश्मीर घाटी के प्रवेश द्वारा कहे जाने वाले अनंतनाग जिले के काजीगुंड में जम गई है.

अली ने कहा, ‘सड़क को साफ करने का काम जारी है और यातायात को चालू करने का फैसला मौसम की परिस्थिति पर निर्भर करेगा.’ कश्मीर घाटी के लगभग सभी इलाकों में भारी बर्फ गिरने से प्रशासन को स्कूल बंद करना पड़ा है.

कश्मीर के मंडलीय प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा, ‘सभी स्कूल अभी तक खुले हुए थे लेकिन उन्हें अब शीतकालीन अवकाश के लिये बंद कर दिया गया है.’ उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी में बर्फ गिरने से सभी सड़के बंद हो गई हैं और इससे होने वाली असुविधा से बचने के लिये स्कूलों को बंद कर दिया गया है.

राज्य सरकार ने पिछले महीने घोषणा की थी कि वह कक्षा नौ, 10, 11 और 12 की पढ़ाई जारी रहेगी ताकि गर्मियों में पांच महीने तक चली अशांति के दौरान हुए नुकसान की भरपाई की जा सके.{mospagebreak}

सरकार के इस फैसले की कई लोगों ने कड़ी आलोचना की थी. उनका मानना था कि खराब मौसम के बावजूद उन्हें अपने बच्चों को स्कूल भेजना पड़ रहा है. छात्रों ने सर्दी की छुट्टियां घोषित करने के लिये कई प्रदर्शन भी किये. कश्मीर प्रभाग में ठंडी हवाओं के कारण शीतकालीन छुट्टियों का आरंभ हर साल 15 दिसंबर से शुरू होकर एक मार्च तक चलता है.

भारी बर्फबारी की वजह से कई टेलीफोन लाइन प्रभावित हुई हैं. सतर्कता बरतने के लिये बिजली की आपूर्ति को काट दिया गया है. अली ने कहा कि उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग स्कीइंग रिसार्ट में कल दो फुट मोटी बर्फ गिरी है जिससे पर्यटकों के आगमन की आशा बढ़ गई है. घाटी में सड़कों पर गिरी बर्फ को साफ करने के लिये 75 मशीने लगाई गई हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें