scorecardresearch
 

उत्तर भारत में ठंड से राहत नहीं, छह और मौतें

उत्तर भारत के राज्यों में कड़ाके की ठंड से राहत की फिलहाल कोई उम्मीद नहीं दिख रही है. घने कोहरे और शीतलहरी का प्रकोप लगातार जारी है. उत्तर प्रदेश में ठंड के कारण छह और मौतों के बाद प्रदेश में मौतों का आंकड़ा 68 पहुंच गया है.

उत्तर भारत के राज्यों में कड़ाके की ठंड से राहत की फिलहाल कोई उम्मीद नहीं दिख रही है. घने कोहरे और शीतलहरी का प्रकोप लगातार जारी है. उत्तर प्रदेश में ठंड के कारण छह और मौतों के बाद प्रदेश में मौतों का आंकड़ा 68 पहुंच गया है.

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में जहां तीन लोगों की मौत हुई वहीं बरेली में दो और बस्ती में एक व्यक्ति की मौत ठंड के कारण हो गई. राज्य में सुल्तानपुर 1.4 डिग्री सेल्सियस के साथ प्रदेश का सबसे ठंडा स्थान रहा वहीं राजधानी लखनउ में न्यूनतम तापमान 3.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

देश की राजधानी दिल्ली में भी लोगबाग ठंड से परेशान रहे. घने कोहरे और बर्फ सी हवा ने लोगों को ठिठुरने पर मजबूर किया. न्यूनतम तापमान 4.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. ठंड के कारण सरकार ने शहर के स्कूलों की छुट्टी 10 जनवरी से बढ़ाकर 13 जनवरी तक कर दी है. रेल एवं वायु यातायात पर भी इसका असर देखा गया .

हरियाणा और पंजाब में भी ठंडी हवाओं और कोहरे के कारण लोग परेशान रहे. नारनौल 1.5 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ दोनों राज्यों का सबसे ठंडा स्थान रहा. वहीं कश्मीर घाटी में भी ठंड के कारण स्थानीय जनजीवन प्रभावित रहा. लेह में सबसे कम तापमान -13.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. राजस्थान के बीकानेर में राज्य का सबसे कम तापमान -2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें