scorecardresearch
 

जैसलमेर: जिस होटल में रुके हैं गहलोत गुट के विधायक, उसे बम से उड़ाने की धमकी

होटल सूर्यगढ़ को बम से उड़ाने की धमकी मिली है. एक व्यक्ति ने होटल के लैंडलाइन पर कॉल कर ये धमकी दी. इस होटल में गहलोत गुट के विधायक ठहरे हुए हैं.

होटल को बम से उड़ाने की मिली धमकी (फाइल फोटो) होटल को बम से उड़ाने की मिली धमकी (फाइल फोटो)

  • होटल सूर्यगढ़ को बम से उड़ाने की मिली धमकी
  • हरकत में आई पुलिस, कोटा से एक युवक गिरफ्तार

राजस्थान के जैसलमेर स्थित होटल सूर्यगढ़ को बम से उड़ाने की धमकी मिली है. एक व्यक्ति ने होटल के लैंडलाइन पर कॉल कर ये धमकी दी. इस होटल में गहलोत गुट के विधायक ठहरे हुए हैं. धमकी मिलने के बाद यहां पर हड़कंप मच गया. राजस्थान पुलिस अलर्ट हो गई है. इस पूरे मामले में कोटा से एक युवक को गिरफ्तार किया गया है. उससे पूछताछ की जा रही है.

बता दें कि राजस्थान की गहलोत सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. सीएम अशोक गहलोत को विधायकों के टूटने का डर था. पहले उन्होंने अपने विधायकों को जयपुर के एक होटल में ठहराया और अब बीते कुछ दिनों से ये 102 विधायक जैसलमेर के होटल सूर्यगढ़ में ठहरे हुए हैं. विधायकों से 14 अगस्त तक होटल में ही रहने को कहा गया है. उन्हें कहा गया कि लोकतंत्र बचाने के लिए ऐसा करना जरूरी है. बता दें कि 14 अगस्त से राजस्थान विधानसभा का सत्र शुरू हो रहा है.

ये भी पढ़ें- राहुल गांधी से मुलाकात के बाद पायलट बोले- पार्टी पद देती है, तो ले भी सकती है

इस बीच, अशोक गहलोत से जारी जंग के बीच राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने गांधी परिवार से मुलाकात की. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मिलने के बाद सचिन पायलट ने कहा कि मुझे पद की लालसा नहीं है. मैं चाहता था कि जो मान-सम्मान-स्वाभिमान की बात हम करते थे वो बनी रहे. इस मुलाकात के बाद माना जा रहा है कि राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ पहले जैसा हो जाएगा और गहलोत सरकार पर जो खतरे के बादल मंडरा रहे थे वो हट जाएंगे.

सचिन पायलट सोमवार रात अपने समर्थक विधायकों को लेकर राहुल गांधी के दफ्तर पहुंचे. कांग्रेस वार रूम 15-जीआरजी में ये बैठक हुई. बैठक में प्रियंका गांधी भी मौजूद रहीं. इससे पहले पायलट ने राहुल-प्रियंका से सोमवार दिन में भी मुलाकात की थी.

ये भी पढ़ें- राहुल गांधी ने सचिन पायलट से कहा- अशोक गहलोत ही कांग्रेस नहीं

उधर, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सचिन पायलट की शिकायत की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित करने का निर्णय लिया है. ये फैसला पायलट और उनके समर्थक विधायकों द्वारा उठाए गए मुद्दों का उचित समाधान करने के लिए लिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें