scorecardresearch
 

राजस्थान: फ्रिज खराब होने से बर्बाद हुई वैक्सीन की 500 से ज्यादा डोज

राजस्थान के डूंगरपुर जिले में कोविशील्ड वैक्सीन के खराब होने की खबर के बाद हड़कंप मचा हुआ है. इस पूरे मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम मंगलवार को अस्पताल पहुंची. टीम के अफसर मीडिया के सवालों से बचते नजर आए.

वैक्सीन वेस्टेज की जांच करते अफसर वैक्सीन वेस्टेज की जांच करते अफसर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • वैक्सीन की करीब 500 डोज बर्बाद
  • जांच करने के लिए पहुंचे अफसर

राजस्थान के डूंगरपुर जिले में कोविशील्ड वैक्सीन के खराब होने की खबर के बाद हड़कंप मचा हुआ है. बताया जा रहा है कि जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रघुनाथपुरा में 22 मई को करीब 500 से ज्यादा वैक्सीन डोज खराब हो गई. फ्रिज खराब होने के बाद वैक्सीन बर्बाद हुई. अब पूरे मामले की जांच शुरू हो गई है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब अस्पताल की नर्स लता यादव ने फ्रिज देखा तो वैक्सीन जमी हुई थी. लता ने इसकी जानकारी डॉक्टर रामचरण शर्मा को दी, फिर CMHO को जानकारी दी गई. इस बीच मामला दबाने की कोशिश की गई. फ्रिज को ठीक कराया गया. हालांकि, फ्रिज के कारीगर और विभाग के कुछ कर्मचारियों ने वैक्सीन की बर्बादी की खबर लीक कर दी.

कोविशील्ड की करीब 500 डोज की बर्बादी की खबर जैसे ही बाहर आई, वैसे ही हंगामा शुरू हो गया. इस मामले को लेकर CMHO महेंद्र कुमार परमार ने 3 सदस्य टीम गठित की है. इस टीम ने मंगलवार को अस्पताल का दौरा किया और नर्स से लिखित बयान मांगा.  इस बीच एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगने शुरू हो गए हैं.

हालांकि फ्रिज कैसे बंद हुआ? कब बंद हुआ? इसका कोई स्पष्ट जवाब नहीं मिल पाया. CMHO ने बताया कि 480 डोज खराब हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि मामले की जांच चल रही है, उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट पेश की जाएगी. वहीं, पूरे मामले पर डूंगरपुर जिला कलेक्टर सुरेश कुमार ओला ने चुप्पी साध ली है.

हाल ही मे डूंगरपुर में बच्चे कोरोना संक्रमित हुए थे. उस मामले को लेकर CMHO राजेश शर्मा का जयपुर ट्रांसफर कर दिया गया था. इसके बाद पहले भी CMHO रह चुके महेंद्र कुमार को फिर से तैनाती मिली है. वह लोकल आदमी हैं. इसके चलते मामला रफा-दफा करने में पूरी टीम लगी हुई है.

(रिपोर्ट- राजेश सोनी)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें