scorecardresearch
 

गहलोत का पायलट खेमे को आश्वासन, न टेप कांड की जांच होगी, न पुलिस लेगी एक्शन

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पायलट खेमे को आश्वासन दिया है कि अब किसी भी तरह की कोई भी पुलिस कार्रवाई नहीं की जाएगी. विधायकों के खरीद-फरोख्त के टेप कांड की जांच भी बंद होगी.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

  • गहलोत सरकार पर मंडरा रहे संकट के बादल छंटे
  • मुख्यमंत्री गहलोत के तेवर में भी नरमी देखी गई है

राजस्थान में गहलोत सरकार पर मंडरा रहे संकट के बादल छंट गए हैं. पायलट खेमे से बिगड़े संबंध में सुधार देखा जा रहा है. सोमवार शाम विधायक भंवरलाल शर्मा से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के तेवर में भी नरमी देखी गई है.

सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पायलट खेमे को आश्वासन दिया है कि अब किसी भी तरह की कोई भी पुलिस कार्रवाई नहीं की जाएगी. विधायकों के खरीद-फरोख्त के टेप कांड की जांच भी बंद होगी.

बता दें कि मुख्यमंत्री गहलोत से मुलाकात के बाद पायलट समर्थक विधायक भंवरलाल ने बातचीत को सकारात्मक बताया और कहा कि सरकार सुरक्षित है. पार्टी एक परिवार है और अशोक गहलोत उसके मुखिया.

भंवरलाल शर्मा ने कहा कि मेरी अशोक गहलोत से नहीं, मुख्यमंत्री से क्षेत्र के मुद्दों को लेकर नाराजगी थी. एक दो दिन में सब ठीक हो जाएगा. अशोक गहलोत ही मुख्यमंत्री रहेंगे और यह सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी.

राहुल गांधी ने सचिन पायलट से कहा- अशोक गहलोत ही कांग्रेस नहीं

इससे पहले सचिन पायलट ने दिल्ली में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकत की थी. जिसमें उन्होंने अपनी समस्याएं रखीं. राहुल गांधी ने पायलट की समस्याओं को दूर करने का आश्वासन दिया, जिसके बाद पायलट और कांग्रेस के रिश्तों पर जमी बर्फ अब पिघलती नजर आ रही है.

इधर, राहुल गांधी से मुलाकात के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सचिन पायलट की शिकायत की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित करने का फैसला किया है, ताकि पायलट और उनके समर्थक विधायकों द्वारा उठाए गए मुद्दों का उचित समाधान किया जा सके.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें