scorecardresearch
 

राजस्थान उपचुनाव: पार्टियों ने तय किए उम्मीदवार, औपचारिक ऐलान बाकी

मंडावा सीट पर भारतीय जनता पार्टी की तरफ से कहा जा रहा है कि अतुल खीचड़ उम्मीदवार होंगे. अतुल खीचड़ झुंझुनू लोकसभा सीट से बीजेपी के सांसद नरेंद्र खीचड़ के बेटे हैं.

नारायण लाल हो सकते हैं खींवसर विधानसभा क्षेत्र से आरएलपी के प्रत्याशी (फोटो-शरत कुमार) नारायण लाल हो सकते हैं खींवसर विधानसभा क्षेत्र से आरएलपी के प्रत्याशी (फोटो-शरत कुमार)

  • मंडावा सीट पर बीजेपी की तरफ से अतुल खीचड़ हो सकते हैं उम्मीदवार
  • खींवसर सीट बीजेपी ने गठबंधन के साथी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी को दी

राजस्थान में होने वाले दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने अपने उम्मीदवार तय कर लिए हैं. दोनों ही सीटों पर चुनाव लड़ रहीं तीन मुख्य पार्टियों ने अपने योग्य उम्मीदवार तो चुन लिए लेकिन अभी तक इसका औपचारिक ऐलान होना बाकी है.

मंडावा सीट पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की तरफ से कहा जा रहा है कि अतुल खीचड़ उम्मीदवार हो सकते हैं. अतुल खीचड़ झुंझुनू लोकसभा सीट से बीजेपी के सांसद नरेंद्र खीचड़ के बेटे हैं. नरेंद्र खीचड़ मंडावा से बीजेपी के विधायक थे जिनके सांसद बनने के बाद यह सीट खाली हुई थी. इसी सीट पर कांग्रेस की तरफ से रीटा चौधरी का नाम तय माना जा रहा है. रीटा चौधरी पिछली बार 2300 वोटों से चुनाव हार गई थीं. रीटा चौधरी इस इलाके के दिग्गज कांग्रेसी नेता रामनारायण चौधरी की बेटी हैं.

हनुमान बेनीवाल के छोटे भाई नारायण बेनीवाल भी प्रत्याशी

खींवसर सीट बीजेपी ने अपने गठबंधन के साथी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी को दी है. राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी की तरफ से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल के छोटे भाई नारायण बेनीवाल को उम्मीदवार बनाए जाने की चर्चा है. यह सीट हनुमान बेनीवाल के नागौर से सांसद बनने की वजह से खाली हुई थी. इस सीट पर कांग्रेस की तरफ से हालांकि अभी औपचारिक ऐलान नहीं हुआ है मगर हरेंद्र मिर्धा को हरी झंडी दिए जाने की बातें सामने आई हैं. मिर्धा ने चुनाव प्रचार करना भी शुरू कर दिया है. हरेंद्र मिर्धा नागौर के कांग्रेस के दिग्गज नेताओं वाले मिर्धा परिवार से आते हैं. तीन बार चुनाव हारने के बावजूद कांग्रेस ने इस सीट के लिए प्रतिभावान उम्मीदवार मिर्धा परिवार से खोजा है.

कब है चुनाव?

हाल ही में चुनाव आयोग ने घोषित किया कि 17 राज्यों की 64 विधानसभा सीटों और एक केंद्र शासित प्रदेश में उपचुनाव 21 अक्टूबर को होंगे और 24 अक्टूबर को नतीजे घोषित किए जाएंगे. इनमें राजस्थान की भी दो सीटें हैं. इसके अलावा कर्नाटक में 15 सीटों, उत्तर प्रदेश में 11 सीटों, केरल और बिहार में पांच-पांच सीटों, गुजरात, असम और पंजाब में चार-चार सीटों, सिक्किम में तीन सीटों, हिमाचल प्रदेश और तमिलनाडु दो-दो सीटों और अरुणाचल प्रदेश, तेलंगाना, मध्य प्रदेश, मेघालय, ओडिशा और पुडुचेरी में एक-एक सीट के लिए विधानसभा उपचुनाव की घोषणा की गई है. आयोग ने कहा कि नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 30 सितंबर है, जबकि नामांकन पत्रों की जांच 1 अक्टूबर तक की जाएगी. चुनाव आयोग ने कहा कि उम्मीदवारी वापस लेने की आखिरी तारीख 3 अक्टूबर है और 27 अक्टूबर तक चुनाव संबंधी प्रक्रियाएं पूरी कर ली जाएंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें