scorecardresearch
 

जयपुर: सदन में सियासत, सड़कों पर सैलाब, पानी में फंसी कांग्रेस विधायकों की बस

Rajasthan Assembly session, MLAs bus stuck in waterlogging: गहलोत खेमे के विधायक सत्र में हिस्सा लेने के लिए फेयरमांट होटल से दो बसों में सवार होकर रवाना हुए थे. लेकिन भारी बारिश के कारण तालाब बन चुकी जयपुर की सड़क पर दोनों बसें फंस गईं

Rajasthan Assembly session, MLAs bus stuck waterlogging Rajasthan Assembly session, MLAs bus stuck waterlogging

राजस्थान की राजधानी जयपुर में भारी बारिश का असर विधानसभा सत्र पर भी पड़ा है. दरअसल, गहलोत खेमे के विधायक सत्र में हिस्सा लेने के लिए फेयरमांट होटल से दो बसों में सवार होकर रवाना हुए थे. लेकिन भारी बारिश के कारण तालाब बन चुकी जयपुर की सड़क पर दोनों बसें फंस गईं, इससे अनेक विधायक समय पर सदन में नहीं पहुंच पाए. इस वजह से विधानसभा सत्र की कार्यवाही भी दोपहर 1 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.

कांग्रेस के विधायकों की एक बस पहले ही होटल से सदन पहुंच चुकी थी, जिसके बाद बीजेपी विधायक भी सदन पहुंचे और शुक्रवार को राजस्थान विधानसभा का 5वां सत्र शुरू हुआ. सत्र की शुरुआत चीन बॉर्डर पर शहीद हुए 20 जवानों को श्रद्धांजलि के साथ हुई. इसके बाद संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने विधानसभा में कहा यह सदन मंत्री परिषद और सरकार में विश्वास प्रकट करता है. इस तरह से सदन में विश्वास मत रख दिया गया है. विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने इसके बाद सदन की कार्यवाही दोपहर 1 बजे तक के लिए स्थगित कर दी. इधर, राजस्थान की सियासी लड़ाई के बीच सदन शुरू होने से ठीक पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि विधानसभा में सत्य की जीत होगी.

जयपुर में शुक्रवार की सुबह से ही जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश के कारण राजधानी की सड़कें तालाब बन गई हैं, सड़क पर खड़ी गाड़ियां डूब गई हैं, वहीं लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

जयपुर शहर में लगातार बारिश का दौर जारी है. दोपहर 1 बजे तक 175 एमएम बारिश दर्ज की गई. इससे पहले साल 2012 में भी 22 अगस्त को भारी बारिश हुई थी, तब जयपुर में 175 एमएम बारिश दर्ज की गई थी. आज फिर वही हालात देखने को मिल रहे हैं.

जयपुर के मकानों और दुकानों में पानी भर गया है. नाले उफान पर हैं. सड़क पर खड़े वाहन बहते दिखे. आमेर जाने वाले रास्ते में नाले का पानी कॉलोनियों में पहुंच गया. सरकारी दफ्तरों और अस्पताल के बेसमेंट में भी पानी भर गया है.

आफत की बारिश के बीच जयपुर में चट्टान सड़क पर आ गिरी. गनीमत ये रही कि इस चट्टान के चपेट में कोई नहीं आया. घटना दिल्ली रोड पर रामगढ़ मोड़ के पास की है.

jaipur-highway_081420014147.jpgदिल्ली रोड पर गिरा चट्टान का मलबा (तस्वीर- शरत कुमार)

मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटे के दौरान जयपुर, अलवर, भरतपुर, भीलवाड़ा समेत राज्य के पूर्वी हिस्से के कई भागों में भारी बारिश होने की संभावना जताई है. इसके अलावा राज्य के अजमेर, अलवर, बांसवाडा, बांरा, भरतपुर, सीकर समेत कई शहरों में बिजली गिरने की चेतावनी भी जारी की है.

rajasthan-rain-1_081420120846.jpg

राजस्थान में सियासी संग्राम

मुख्य विपक्षी दल भाजपा द्वारा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाए जाने की घोषणा के बीच विधानसभा का यह सत्र काफी हंगामेदार रहने की संभावना है. विधानसभा सत्र शुरू होने से ठीक एक दिन पहले सत्तारूढ़ कांग्रेस व उसके सहयोगी दलों के विधायकों की बैठक हुई तो भाजपा व उसके घटक दल ने भी बैठक की.

इस बीच कांग्रेस ने अपने दो विधायकों विश्वेंद्र सिंह तथा भंवरलाल शर्मा का निलंबन रद्द किया. लेकिन दिन की सबसे महत्वपूर्ण घटना पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात रही. लगभग एक महीने की सियासी खींचतान का एक तरह से पटाक्षेप करते हुए दोनों नेता मुख्यमंत्री निवास में मिले.

sachin-pilot_081420121349.jpg

बैठक में गहलोत व पायलट के साथ कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, पार्टी के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे व पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी मौजूद थे. इसके बाद कांग्रेस विधायक दल की बैठक मुख्यमंत्री निवास में हुई जिसमें गहलोत, पायलट के साथ साथ कांग्रेस व उनके समर्थक विधायक भी शामिल हुए.

भाजपा की विधायक दल में पार्टी ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया. बैठक के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि विधानसभा के शुक्रवार से शुरू हो रहे सत्र में अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा. कटारिया ने कहा,' हम अपनी तरफ से अविश्वास प्रस्ताव लेकर आ रहे हैं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें