scorecardresearch
 

CAA-NRC प्रैक्टिकल नहीं, डिटेंशन सेंटर जाना पड़ा तो सबसे पहले मैं जाऊंगा: गहलोत

गहलोत ने कहा, मैं बाहर चला गया इसलिए आपके (प्रदर्शनकारियों) बीच नहीं आ सका. मुझे खुशी हो रही है कि मैं आपके बीच आया हूं. गहलोत शुक्रवार को जयपुर स्थित शहीद स्मारक गए जहां सीएए और एनआरसी के विरोध में धरना चल रहा है.

  • जयपुर के शहीद स्मारक पर CAA के खिलाफ प्रदर्शन
  • गहलोत ने कहा- प्रदर्शनकारियों के साथ खड़ी कांग्रेस

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) प्रैक्टिकल नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर डिटेंशन सेंटर में जाना पड़े तो सबसे पहले मैं जाऊंगा. किसी को भी डिटेंशन सेंटर में नहीं जाने दिया जाएगा. किसी को घबराने की जरूरत नहीं है.

सीएए के विरोध में अशोक गहलोत ने कहा, मैं साफ कर देना चाहता हूं कि एनआरसी हमें मंजूर नहीं है. पूरे देश की कांग्रेस आपके साथ खड़ी है, आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा, मैं बाहर चला गया इसलिए आपके बीच नहीं आ सका. मुझे खुशी हो रही है कि मैं आपके बीच आया हूं. गहलोत शुक्रवार को जयपुर स्थित शहीद स्मारक गए जहां सीएए और एनआरसी के विरोध में धरना चल रहा है.

ये भी पढ़ें: राजस्थानः जल महल में उम्मीद की किरण

हाल में बीते दिल्ली चुनाव पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, दिल्ली में 2 दिन पहले क्या हुआ, लोगों को पता है. केंद्रीय मंत्री और सारे इनके (बीजेपी) चीफ मिनिस्टर आ गए. नीतीश कुमार भी आ गए. भड़काने वाले मुख्यमंत्री यूपी से आ गए, मगर जनता ने जो सबक सिखाया है, उसे इतिहास में याद रखा जाएगा. गहलोत का इशारा दिल्ली में बीजेपी की हार की तरफ था जहां बीजेपी को 70 में 8 सीटें मिली हैं जबकि आम आदमी पार्टी ने 62 सीटें झटकी हैं. यह अलग बात है कि कांग्रेस यहां शून्य पर सिमट गई है.

ये भी पढ़ें: महिला IAS पर टिप्पणी पड़ी भारी, कांग्रेस नेता के खिलाफ उतरीं कई अधिकारी

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें