scorecardresearch
 

लॉकडाउन में नहीं आ पाए घरवाले, मुसलमानों ने दिया अर्थी को कंधा, कराया दाह संस्कार

गुजरात के रहने वाले एक कैंसर पीड़ित युवक की जयपुर की भट्टा बस्ती में मौत हो गई. लॉकडाउन के कारण परिवार का कोई सदस्य नहीं आ सकता था और यहां परिवार में सिर्फ मौसी थी. लिहाज आसपास के मुस्लिम लोगों ने युवक का हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार किया.

मुसलमानों ने दिया हिंदू युवक की अर्थी को कंधा (Photo- Aajtak) मुसलमानों ने दिया हिंदू युवक की अर्थी को कंधा (Photo- Aajtak)

  • जयपुर की भट्टा बस्ती में कैंसर पीड़ित युवक की मौत
  • मुसलमानों ने हिंदू विधि-विधान से किया अंतिम संस्कार

राजस्थान के जयपुर की भट्टा बस्ती इन दिनों कोरोना का सेंटर बनी हुई है. इसके बावजूद दिल को छू लेने वाली मिसाल भट्टा बस्ती में दिखी. भट्टा बस्ती में सोमवार को 22 साल के एक युवक राजेंद्र की मौत हो गई. आस-पास कोई हिंदू परिवार नहीं था, तो मुस्लिम लोगों ने ही अंतिम संस्कार किया. अर्थी को कंधा दिया और राम नाम सत्य के नारे भी लगाए.

गुजरात का रहने वाला राजेंद्र जयपुर की भट्टा बस्ती के बजरंग नगर में अपनी मौसी के यहां रुका हुआ था. राजेंद्र अजमेर के पास फुलेरा में पुराने कपड़ों को इकट्ठा कर बेचने का काम करता था. यहां जयपुर के सरकारी अस्पताल में कैंसर की गांठ का इलाज करा रहा था.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

युवक की मौत होने के बाद लॉकडाउन की वजह से गुजरात से उसके घर वाले आ नहीं सकते थे. यहां परिवार में मौसी के अलावा कोई पुरुष नहीं था. लिहाजा वहां आस-पास के रहने वाले अल्पसंख्यक परिवारों ने हिंदू रीति-रिवाज के साथ राजेंद्र का अंतिम संस्कार किया.

इंदौर में भी दिखी ऐसी मिसाल...

वहीं, बीते दिनों इंदौर के साउथ तोड़ा से भी इंसानियत की एक ऐसी ही मिसाल देखने को मिली थी. जहां एक महिला की मृत्यु होने के बाद मुस्लिम पड़ोसियों को पता चला कि उसके परिवारवालों के पास अंतिम संस्कार के पैसे नहीं हैं, तो वे उनकी मदद के लिए आगे आए.

कोरोना पर भ्रम फैलाने से बचें, आजतक डॉट इन का स्पेशल WhatsApp बुलेटिन शेयर करें

मुस्लिम लोगों ने हिंदू महिला की अर्थी को कंधा दिया और उनका अंतिम संस्कार भी कराया. ये बुजुर्ग महिला इंदौर के साउथ तोड़ा जूना गणेश मंदिर इलाके में रहती थी. महिला को मोहल्ले में लोग दुर्गा मां नाम से पुकारते थे.

वह कई दिनों से बीमार चल रही थी. मोहल्ले में रहने वाले मुस्लिम परिवार के लोग अक्सर उसका हालचाल लिया करते थे.

लॉकडाउन के बीच महाराष्ट्र में चालू होंगी फैक्ट्रियां, ब्लूप्रिंट हो रहा है तैयार

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×