scorecardresearch
 

Alwar minor gang rape: पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए 17-18 जनवरी को पूरे राजस्थान में विरोध प्रदर्शन करेगी बीजेपी

Alwar Gangrape Case: राजस्थान के अलवर में गैंगरेप का चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां मूक बधिर बच्ची के साथ गैंगरेप किया गया. बच्ची को जयपुर के डॉक्टरों की टीम ने आठ घंटे तक ऑपरेशन कर के किसी तरह से बचा लिया है. मगर 16 साल की नाबालिग के साथ जिस तरह से बलात्कार हुआ उस दरिंदगी को देखकर इलाज कर रहे डॉक्टर भी कांप उठे.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजस्थान के अलवर में मूक-बधिर लड़की से गैंगरेप का मामला
  • 17-18 जनवरी को पूरे राज्य में प्रदर्शन करेगी बीजेपी

राजस्थान के अलवर में मूक-बधिर लड़की से गैंगरेप के मामले में भाजपा लगातार गहलोत सरकार पर निशाना साध रही है. अब बीजेपी ने अलवर की पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए राज्यभर में बड़े स्तर पर प्रदर्शन करने का ऐलान किया है. बीजेपी नेता सतीश पूनिया ने कहा, बीजेपी 17-18 जनवरी को राजस्थान के सभी मंडलों में राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी. 

राजस्थान के अलवर में गैंगरेप का चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां मूक बधिर बच्ची के साथ गैंगरेप किया गया. बच्ची को जयपुर के डॉक्टरों की टीम ने आठ घंटे तक ऑपरेशन कर के किसी तरह से बचा लिया है. मगर 16 साल की नाबालिग के साथ जिस तरह से बलात्कार हुआ उस दरिंदगी को देखकर इलाज कर रहे डॉक्टर भी कांप उठे. न केवल गैंगरेप किया गया था बल्कि उसके प्राइवेट पार्ट्स को नुकीली चीज से वार कर जख्मी कर दिया गया था. प्राइवेट पार्ट में नुकीली चीज डाली गयी थी जिससे उसका प्राइवेट पार्ट और मलद्वार एक हो गए थे. हालांकि, पुलिस का कहना है कि बच्ची के साथ गैंगरेप नहीं हुआ. 

पुलिस ने कहा- मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं

बच्ची के साथ दरिंदगी के मामले में पुलिस ने जांच के बाद लड़की के साथ रेप की घटना से इनकार कर दिया है. शुक्रवार को अलवर के पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने खुद मीडिया को इस बारे में जानकारी दी. उन्होंने मेडिकल रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि इस मामले में अभी रेप की पुष्टि नहीं हुई है.

वहीं, इस मामले में अपराधी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. पुलिस का कहना है कि 25 किलोमीटर के दायरे में 300 से ज्यादा CCTV फ़ुटेज खंगाले गए हैं, मगर अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है कि आखिर एक मूक बधिर बच्ची कैसे दरिंदों के हाथ लगी थी. इस पीड़ित बच्ची के माता पिता मजदूर हैं. पीड़िता के अलावा उनकी एक बेटी और एक बेटा और हैं.

बीजेपी ने साधा कांग्रेस पर निशाना

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस मामले में प्रियंका गांधी पर निशाना साधा है. शुक्रवार को संबित ने कहा कि जब अलवर में ये घटना हो रही थी, तब प्रियंका गांधी रणथंभौर में रॉबर्ट वाड्रा के साथ जन्मदिन मना रही थी. उन्होंने कहा कि जब भाजपा के नेताओं को पता चला कि प्रियंका गांधी राजस्थान में हैं तो भाजपा नेताओं ने प्रियंका से मुलाकात करने की कोशिश की, लेकिन कांग्रेस के नेताओं ने यह कहकर मिलने नहीं दिया कि प्रियंका गांधी अपना जन्मदिन मना रही हैं.

संबित पात्रा ने कहा कि जो लड़की बोल नहीं सकती, उसके साथ अलवर में जो हुआ उससे दिल दहल जाता है. उन्होंने प्रियंका गांधी से पूछा कि अलवर में एक 15-16 साल की दिव्यांग लकड़ी के साथ दुर्व्यवहार होता है, एक गाड़ी खून से लथपथ उस लड़की को सड़क पर छोड़कर जाती है, आज वो बेटी आईसीयू में अपने जीवन से लड़ रही है. क्या प्रियंका जी उस पीड़िता से मिलीं? - क्या वे उस पीड़िता के घर गईं?

मामले में नहीं होनी चाहिए राजनीति- गहलोत

 


ये भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×