scorecardresearch
 

पंजाब में बढ़ी भुखमरी, मंत्री बोले- डाइटिंग की वजह से लोग हो रहे कमजोर

नीति आयोग की भुखमरी वाले राज्यों की रिपोर्ट में पंजाब दो पायदान फिसलकर 10वें से 12वें नंबर पर पहुंच गया है. खाद्यान्न का भंडार कहे जाने वाले पंजाब में आज हालात बदतर हो चुके हैं.

स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू

  • नीति आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक पंजाब में बढ़ी भुखमरी
  • दो पायदान फिसलकर 10वें से 12वें नंबर पर पहुंचा राज्य

नीति आयोग की भुखमरी वाले राज्यों की रिपोर्ट में पंजाब दो पायदान फिसलकर 10वें से 12वें नंबर पर पहुंच गया है. खाद्यान्न का भंडार कहे जाने वाले पंजाब में आज हालात बदतर हो चुके हैं. राज्‍य में भुखमरी तेजी से बढ़ रही है. इस बीच, पंजाब के मंत्रियों के हास्यास्पद बयान भी सामने आए हैं जिसमें कहा गया कि डाइटिंग की वजह से पंजाब के लोग कमजोर हो रहे हैं.

नीति आयोग द्वारा जारी सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) सूचकांक-2019 में यह तथ्‍य सामने आया है. इस सूची में देश में केरल पहले नंबर पर तो पड़ोसी राज्य हिमाचल प्रदेश दूसरे नंबर है. हरियाणा 18वें नंबर पर है.

सोलह मापदंडों पर हुई रैंकिंग में पंजाब 4 क्षेत्रों में नीचे गया है, जबकि 8 में उसने वृद्धि की है. एक क्षेत्र में वह बराबरी पर है. पंजाब के लिए सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि एक साल में भुखमरी में उसके 10 अंक कम हो गए हैं. 2018 के सर्वे में पंजाब के 100 में से 71 अंक थे. अब 61 रह गए हैं.

भुखमरी के साथ-साथ प्रदेश में गरीबी भी तेजी से बढ़ रही है. 2018 में गरीबी में पंजाब के 56 अंक थे जोकि 2019 में घट कर 48 रह गए हैं. यह गिरावट 8 फीसद है.

नीति आयोग की इस रिपोर्ट को गंभीरता से लेने के बजाय पंजाब के मंत्रियों के अजीबो-गरीब बयान सामने आए हैं. पंजाब के हेल्थ मिनिस्टर बलबीर सिद्धू ने पंजाब में भुखमरी बढ़ने की रिपोर्ट पर हास्यास्पद प्रतिक्रिया दी है. स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू ने कहा है कि पंजाब में भुखमरी नहीं है और पंजाब के लोग वजन घटाने के लिए डाइटिंग करते हैं और इसी वजह से पंजाब इस रैंकिंग में पिछड़ गया है.

वहीं, दूसरा बयान कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत का आया, जिन्होंने पंजाब में भुखमरी बढ़ने की रिपोर्ट पर पहले तो लोगों को काम करने की नसीहत दी और फिर नीति आयोग की रिपोर्ट को गलत भी ठहरा दिया.

हालांकि, विपक्ष इस मामले पर सरकार को घेर रहा है और सरकार को हर क्षेत्र में असफल बता रहा है. शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता दलजीत चीमा ने कहा है कि पंजाब की कांग्रेस सरकार हर मोर्चे पर फेल है और अपनी नाकामी छिपाने के लिए सरकार के मंत्री इस तरह के ऊलजलूल बयान दे रहे हैं.

बहरहाल, नीति आयोग की रिपोर्ट में पंजाब में भुखमरी बढ़ने के तथ्य सामने आने के बाद उम्मीद की जा रही थी कि सरकार इसको गंभीरता से लेकर जहां पर सुधार की आवश्यकता है वहां सुधार करेगी, मगर पंजाब के मंत्रियों के जिस तरह से इस मामले में बयान सामने आ रहे हैं उससे तो लगता है कि सरकार इस रिपोर्ट को गंभीरता से लेने के मूड में नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें