scorecardresearch
 

पंजाब में खुलने जा रहे दिल्ली जैसे 'मोहल्ला क्लीनिक', जायजा लेने पहुंचे भगवंत मान

90% से ज्यादा लोगों को इन क्लीनिक का फायदा होगा. उन्हें प्राइवेट अस्पताल या PGI जाने की जरूरत नहीं होगी. कई बार बीमारी इतनी नहीं होती, जितनी बना दी जाती है. हर बात पर PGI रेफर कर दिया जाता है. यहां इलाज मिलने से वहां का भी बोझ घटेगा.

X
सीएम भगवंत मान (फाइल फोटो)
सीएम भगवंत मान (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 15 अगस्त को खुलेंगे 75 मोहल्ला क्लीनिक
  • क्लीनिक में एमबीबीएस डॉक्टर करेंगे इलाज
  • 90% जनता को होगा क्लीनिक से फायदा

आम आदमी पार्टी की भगवंत मान सरकार पंजाब में 'मोहल्ला क्लीनिक' की शुरुआत करने जा रही है. मुख्यमंत्री भगवंत मान ने इन क्लीनिक का जायजा लिया. दिल्ली में आम आदमी पार्टी की ही अरविंद केजरीवाल सरकार 'मोहल्ला क्लीनिक' का संचालन पहले से कर रही है.

15 अगस्त को खुलेंगे 75 आम आदमी क्लीनिक

पंजाब सरकार ने दिल्ली की तर्ज पर खोले जा रहे 'मोहल्ला क्लीनिक' को आम आदमी क्लीनिक नाम दिया है. पंजाब में 15 अगस्त को ऐसे 75 क्लीनिक शुरू किए जा रहे हैं. शनिवार को मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मोहाली में ऐसे एक मोहल्ला क्लीनिक का जायजा लिया.

होंगी 100 तरह की जांच

इन क्लीनिक में लोगों को 41 तरह के टेस्ट पैकेज मिलेंगे. यहां 100 से ज्यादा तरह के मेडिकल टेस्ट की सुविधा होगी. इन आम आदमी क्लीनिक में इलाज पूरी तरह मुफ्त होगा. डॉक्टर समेत हर क्लीनिक पर 4 से 5 लोगों का स्टाफ होगा. 

MBBS डॉक्टर करेंगे इलाज

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बताया कि आम आदमी क्लीनिक में एक MBBS डॉक्टर होगा. साथ ही एक फार्मासिस्ट, एक नर्स और एक स्वीपर समेत कुल 4 से 5 कर्मचारी होंगे. ये आम आदमी क्लीनिक एयरकंडीशंड होगा. मोहल्ला क्लीनिक में टोकन सिस्टम होगा. लोग ऑनलाइन अपॉइंटमेंट भी ले सकेंगे. अन्यथा मरीजों को 'पहले आओ, पहले टोकन पाओ' की तर्ज पर देखा जाएगा. टोकन के हिसाब से डॉक्टर मरीजों को देखेंगे.

अभी कहीं डिस्पेंसरी नहीं, तो कहीं दवा नहीं

भगवंत मान ने कहा कि पंजाब के गांवों में अभी कहीं डिस्पेंसरी नहीं है, कहीं दवा नहीं है तो कहीं डॉक्टर ही नहीं हैं. इन आम आदमी क्लीनिक में सब कुछ मिलेगा. अगर टेस्ट में कोई बड़ी बीमारी आई तो ही उसे बड़े अस्पताल रेफर किया जाएगा. क्लीनिक में जितनी देर तक मरीज आएंगे, उतनी देर तक डॉक्टर बैठे रहेंगे.

हर किसी को PGI जाने की जरूरत नहीं

सीएम भगवंत मान ने दावा किया कि 90% से ज्यादा लोगों को इसका फायदा होगा. उन्हें प्राइवेट अस्पताल या PGI जाने की जरूरत नहीं होगी. कई बार बीमारी इतनी नहीं होती, जितनी बना दी जाती है. हर बात पर PGI रेफर कर दिया जाता है. यहां इलाज मिलने से वहां का भी बोझ घटेगा. इन क्लीनिक के बाद जिला स्तर पर सिविल अस्पतालों की दशा सुधारने पर काम होगा. वहीं 16 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें