scorecardresearch
 

Punjab: कुमार विश्वास FIR रद कराने HC पहुंचे, चुनाव से पहले अरविंद केजरीवाल पर की थी टिप्पणी

विधानसभा चुनाव से पहले कुमार विश्वास ने AAP के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर गंभीर आरोप लगाए थे. कुमार विश्वास के अलावा कांग्रेस नेता अलका लांबा के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया था. लांबा पर विश्वास द्वारा की गई टिप्पणी का समर्थन करने का आरोप लगाया गया है. कुमार विश्वास के घर पंजाब पुलिस भी पहुंच चुकी है. अब विश्वास ने इस मामले में कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

X
कवि डॉ. कुमार विश्वास (फाइल फोटो) कवि डॉ. कुमार विश्वास (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले दिया था बयान
  • रोपड़ पुलिस ने हमला, आपराधिक साजिश का दर्ज किया है केस

कवि डॉ. कुमार विश्वास ने पंजाब के रोपड़ में अपने खिलाफ दर्ज केस को रद्द करने की मांग को लेकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है. हाईकोर्ट उनकी याचिका पर जल्द सुनवाई कर सकता है. मालूम हो कि विधानसभा चुनाव से पहले कुमार विश्वास ने AAP सुप्रीमो और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर गंभीर आरोप लगाए थे. इसके बाद रोपड़ पुलिस ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था.

कुमार विश्वास के खिलाफ धारा 153, 153ए, 505, 505 (2), 116 के साथ धारा 143, 147, 323 (हमला), 341, 120-बी (आपराधिक साजिश) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया था. कुमार विश्वास के अलावा कांग्रेस नेता अलका लांबा के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया था. लांबा पर विश्वास द्वारा की गई टिप्पणी का समर्थन करने का आरोप लगाया गया है.

कांग्रेस भी कर रही FIR रद्द करने की मांग

पंजाब कांग्रेस ने पार्टी नेता अलका लांबा और कुमार विश्वास के खिलाफ दर्ज FIR को तत्काल रद्द करने की मांग की है. पार्टी ने उन अधिकारियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की मांग की है, जिन्होंने कथित तौर पर मामला दर्ज करने में लापरवाही बरती.

इस संबंध में पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा और कांग्रेस विधायक दल के नेता प्रताप सिंह बाजवा भी पंजाब के डीजीपी को पत्र लिख चुके हैं. उन्होंने लिखा कि अगर पुलिस ऐसा नहीं करती है तो कांग्रेस पार्टी सड़क पर विरोध प्रदर्शन करेगी.

इसलिए कुमार विश्वास पर किया गया केस

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल को लेकर एक बयान दिया था. कुमार विश्वास ने दावा किया था कि केजरीवाल ने उनसे बातचीत में कहा था कि एक दिन या तो वह पंजाब के मुख्यमंत्री बनेंगे या एक स्वतंत्र राष्ट्र (खालिस्तान) के पहले प्रधानमंत्री बनेंगे. ये बयान पंजाब चुनाव में मुद्दा भी बना था.

अब पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार है. इस मामले में पूछताछ के लिए पंजाब पुलिस गाजियाबाद में कुमार विश्वास के घर पहुंची थी. 

नवजोत सिद्धू ने भी कार्रवाई का किया विरोध

नवजोत सिंह सिद्धू ने भी पंजाब सरकार पर कुमार विश्वास पर हुई कार्रवाई को लेकर तंज कसा था. उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि पंजाब सरकार तो केजरीवाल की कठपुतली की तरह काम कर रही है. कुमार विश्वास और अलका लांबा के खिलाफ की गई कार्रवाई साफ बताती है कि ये सरकार अपने विरोधियों को चुप करना चाहती है. कांग्रेस अलका जी के साथ खड़ी हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें