scorecardresearch
 

लड़कियों की शिक्षा के लिए मुहिम, 'उम्मीद 1000 साइक्लोथान' दल चंडीगढ़ पहुंचा

साइकिल चालकों का दल चंडीगढ़ से लुधियाना और जालंधर होते हुए 20 नवंबर को अमृतसर पहुंचेगा. इस दल का नेतृत्व जाने-माने साइकिलिस्ट जसमीत सिंह कर रहे हैं.

चंडीगढ़ के करीब जीरकपुर में किया गया स्वागत चंडीगढ़ के करीब जीरकपुर में किया गया स्वागत

  • 1000 किमी. की दूरी तय करेगा दल
  • इस दल में 35 साइकिलिस्ट शामिल हैं

लड़कियों की शिक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करने और उसके लिए आर्थिक मदद जुटाने के लिए शुरू किया गया 'उम्मीद 1000 साइक्लोथान' रविवार को चंडीगढ़ के करीब जीरकपुर पहुंचा. इस साइक्लोथान में 35 साइकिलिस्ट भाग ले रहे हैं. साइक्लोथान जयपुर, अजमेर, दिल्ली होते हुए चंडीगढ़ पहुंचा, जहां इनका भव्य स्वागत किया गया.

साइकिल चालकों का दल चंडीगढ़ से लुधियाना और जालंधर होते हुए 20 नवंबर को अमृतसर पहुंचेगा. इस दल का नेतृत्व जाने-माने साइकिलिस्ट जसमीत सिंह कर रहे हैं. एक निजी बैंक द्वारा प्रायोजित 'उम्मीद 1000 साइक्लोट्रॉन' का यह पांचवां संस्करण है. इसके जरिए अब तक 6 करोड़ रुपए जुटाए जा चुके हैं. इस सहायता राशि को शिक्षा से वंचित बालिकाओं की शिक्षा पर खर्च किया जाता है.

गौरतलब है कि सरकार की ओर से बड़े स्तर पर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ मुहिम चलाई गई है. हालांकि इकोनॉमिक सर्वे 2019 में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम का नाम बदलने का प्रस्ताव दिया गया है. अगर इसे मंजूरी मिली तो लैंगिक समानता के लिए काम करने वाली इस योजना को अब BADLAV (बेटी आपा धन लक्ष्मी और विजय-लक्ष्मी) के नाम से जाना जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें