scorecardresearch
 

पश्चिम बंगाल: कल फिर बीजेपी का हल्ला बोल, पुलिस थानों का होगा घेराव, पहले हो चुका बवाल

पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच फिर तल्खी बढ़ गई है. इसी कड़ी में शुक्रवार को एक बार फिर बीजेपी कार्यकर्ता सड़क पर उतरने की तैयारी कर रहे हैं. उनकी तरफ से हर पुलिस थाने का घेराव किया जाएगा. पिछले दिनों क्योंकि प्रदर्शन के दौरान कई पार्टी कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया, ऐसे में अब उसका विरोध दर्ज करवाया जाएगा.

X
कल फिर बंगाल की सड़कों पर उतरेगी बीजेपी
कल फिर बंगाल की सड़कों पर उतरेगी बीजेपी

पश्चिम बंगाल में एक बार फिर बीजेपी बनाम टीएमसी की जंग तेज हो गई है. कुछ दिन पहले बीजेपी ने टीएमसी सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन निकाला था. उस प्रदर्शन की वजह से बड़े स्तर पर बवाल हुआ और हिंसा भी देखने को मिल गई. अब एक बार फिर बीजेपी शुक्रवार को सड़कों पर उतरने की तैयारी कर रही है. इस बार बंगाल के सभी पुलिस थानों के घेराव का ऐलान कर दिया गया है.

फिर बंगाल में बीजेपी का प्रदर्शन

बीजेपी का आरोप है कि पुलिस द्वारा पार्टी के प्रदर्शन के दौरान मारपीट की गई थी, उनके कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया. अब उसी कार्रवाई का विरोध करने के लिए सड़कों पर पुलिस का विरोध किया जाएगा. अब सड़कों पर तो हल्ला बोल की तैयारी है ही, साथ में विधानसभा में भी जमकर बवाल काटा गया है. गुरुवार को सदन में बीजेपी और टीएमसी के विधायक आमने-सामने आ गए थे. दोनों तरफ से नारेबाजी हुई और प्लेकार्ड भी दिखाए गए. 

एक तरफ बीजेपी टीएमसी के भ्रष्टाचार पर चर्चा करना चाहती थी तो वहीं दूसरी तरफ टीएमसी आरोप लगा रही थी कि असल चोरों को नहीं पकड़ा जा रहा और सिर्फ विपक्ष के खिलाफ ईडी-सीबीआई की जांच की जा रही है. ऐसे में बवाल दोनों तरफ से चल रहा है और जमीन पर तनाव की स्थिति बनी हुई है.

पिछले प्रदर्शन में जमकर हिंसा

जानकारी के लिए बता दें कि मंगलवार को बीजेपी ने कोलकाता में सचिवालय तक मार्च निकालने की तैयारी की थी. हजारों की संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता उत्तर और दक्षिण बंगाल से पहुंचे थे. अब इस प्रदर्शन की जानकारी क्योंकि बंगाल पुलिस को पहले से थी, ऐसे में ना सिर्फ भारी संख्या में फोर्स तैनात की गई, बल्कि पुलिस ने हावड़ा से सचिवालय की ओर जाने वाली सभी रोड पर बैरिकेडिंग लगा दी थी.

इस बैरिकेडिंग को पार करने की वजह से बीजेपी कार्यकर्ता और पुलिस के बीच झड़प देखने को मिली. जो तस्वीरें सामने आईं उसमें पुलिस ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया, आंसू गैस के गोले दागे. असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर तो इस हिंसा में बुरी तरह घायल भी हो गए. ऐसे में अब जब फिर बीजेपी सड़कों पर उतरने की तैयारी कर रही है तो जमीन पर कानून व्यवस्था को बनाए रखना चुनौती साबित हो सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें