scorecardresearch
 

'इतने बेशर्म मत बनिए....', 10 लाख सरकारी नौकरी के वादे को लेकर गिरिराज और तेजस्वी के बीच छिड़ी जंग

Bihar News: बिहार के युवाओं को 10 लाख सरकारी नौकरी देने के चुनावी वादे को लेकर सूबे के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बीच ट्विटर पर जमकर बहसबाजी हुई. तेजस्वी ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय मंत्री ने उनके टीवी इंटरव्यू को काट छांट कर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है.

X
तेजस्वी यादव और गिरिराज सिंह में जुबानी जंग. (फाइल फोटो)
तेजस्वी यादव और गिरिराज सिंह में जुबानी जंग. (फाइल फोटो)

बिहार के युवाओं को 10 लाख सरकारी नौकरी देने के चुनावी वादे को लेकर उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बीच ट्विटर पर जंग छिड़ गई है. तेजस्वी ने शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर अपने उस टीवी इंटरव्यू को काट छांट कर सोशल मीडिया पर पोस्ट करने को लेकर पलटवार किया, जिसमें वह बिहार के बेरोजगार युवाओं को 10 लाख सरकारी नौकरी देने के अपने चुनावी वादे से पलटते दिखाई दे रहे हैं.

दरअसल, इस गिरिराज सिंह की ओर से शेयर कि गए टीवी इंटरव्यू में तेजस्वी यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि उन्होंने 10 लाख सरकारी नौकरी का वादा मुख्यमंत्री बनने की स्थिति में किया था, लेकिन वर्तमान में वह केवल उपमुख्यमंत्री हैं. 

इस पर भड़के तेजस्वी ने ट्वीट करके लिखा, "श्रीमान जी, इतने बेशर्म मत बनिए. एक फुट लंबी चोटी रखने से कोई ज्ञानी नहीं बन जाता, जैसे आप रखते हैं. आप लोगों की इन चिरकुट हरकतों, संपादित वीडियो और सड़कछाप बयानों की बदौलत ही भाजपा की यह दुर्दशा है. इन बेचारों का होगा बिहार में कोई चेहरा ही नहीं. बाकी इस पूरे वीडियो को सुनकर खुशी मनाइए.'' 

वहीं, इस इंटरव्यू के पूरे संस्करण में, तेजस्वी यह कहते हुए दिखाई देते हैं कि उन्होंने मुख्यमंत्री बनने पर ही 10 लाख सरकारी नौकरियों का वादा किया था, लेकिन वर्तमान में वह केवल उपमुख्यमंत्री हैं, लेकिन उन्होंने इस मुद्दे पर नीतीश कुमार के साथ चर्चा की है. तेजस्वी ने कहा कि अधिक से अधिक सरकारी नौकरियां प्रदान करने की दिशा में सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है.

तेजस्वी इंटरव्यू के असंपादित संस्करण में कहते हुए दिखते हैं, "नीतीश कुमार इस मुद्दे को लेकर गंभीर हैं और एक बार विश्वास मत और कैबिनेट गठन हो जाने के बाद, यह काम हो जाएगा. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि 10 लाख सरकारी नौकरियां मेरे द्वारा नहीं बल्कि नीतीश कुमार द्वारा प्रदान की जाती हैं.''

दरअसल, गिरिराज सिंह ने गुरुवार को कथित तौर पर वीडियो का एक संपादित संस्करण पोस्ट किया था और अपने चुनावी वादे से पलटी मारने को लेकर तेजस्वी पर कटाक्ष किया था. हालांकि, राजद नेता ने 'एक फुट लंबी चोटी" के बयान को लेकर गिरिराज सिंह ने भी तेजस्वी पर हमला बोला और उन्हें 'चारा चोर का बेटा' कहा.

गिरिराज सिंह ने ट्वीट किया, "चारा चोर का बेटा महात्मा नहीं बनेगा. वह फिर से चिड़ियाघर से मिट्टी चुराकर उनके मॉल में इस्तेमाल करेगा. फिर पलटू चाचा नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के आरोप में पूरे लालू परिवार को बर्खास्त कर देंगे."

एक अन्य ट्वीट में गिरिराज सिंह ने "एक फुट लंबी चोटी" वाली टिप्पणी के लिए तेजस्वी पर हमला किया और कहा कि "बिहार की धर्मनिरपेक्ष सरकार के शीर्ष नेताओं ने टीका और शिखा जैसे हिंदू प्रतीकों पर हमला करना शुरू कर दिया है."

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें