scorecardresearch
 

'किसी को नहीं पता नड्डा जी अध्यक्ष कैसे बने', सचिन पायलट ने BJP पर साधा निशाना

आजतक से खास बातचीत करते हुए कांग्रेस नेता और राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि अगर कोई कह रहा है कि पद की लालसा नहीं है तो वह झूठ बोल रहा है. पॉलिटिक्स में हैं, तो महत्वाकांक्षा होनी चाहिए. पायलट के इस बयान को गहलोत पर निशाने के तौर पर देखा जा रहा है.

X
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सचिन पायलट
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सचिन पायलट

कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव में अब एक महीने से भी कम का वक्त बचा है. वहीं इसको लेकर चर्चाएं भी तेज हो गई हैं. वहीं राहुल गांधी अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ने की बात पहले ही कह चुके हैं. जिसके बाद चर्चा है कि शशि थरूर और अशोक गहलोत  इसके लिए नामांकन कर सकते हैं. इस बीच आजतक से खास बातचीत करते हुए कांग्रेस नेता और राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि अगर कोई कह रहा है कि पद की लालसा नहीं है तो वह झूठ बोल रहा है. पॉलिटिक्स में हैं, तो महत्वाकांक्षा होनी चाहिए. पायलट के इस बयान को गहलोत पर निशाने के तौर पर देखा जा रहा है.

बीजेपी पर साधा निशाना

पायलट ने कहा कि कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हो रहे हैं. चुनावी प्रक्रिया को हरी झंडी मिली है और 24 सितंबर को नामांकन शुरू होंगे. पद पर कौन आसीन होगा, यह मतदान के बाद पता चलेगा. लंबे समय बाद चुनाव हो रहा है. लोकतांत्रिक प्रक्रिया से पार्टी गुजरेगी तो पार्टी मजबूत होगी, चाहे जो उम्मीदवार हो. भाजपा में चुनाव नहीं होते. यह किसी को पता नहीं कि नड्डा जी अध्यक्ष कैसे बने. 

'5 साल भाजपा-5 साल कांग्रेस की सोच खत्म करनी होगी'

उन्होंने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है. 30 साल से परिपाटी बन गई है कि 5 साल भाजपा और 5 साल कांग्रेस. लोगों को लगता है कि यह अब खत्म होनी चाहिए. लोगों की प्रवृत्ति बन गई है कि 5 साल कांग्रेस का कार्यकाल खत्म हुआ है तो अब भाजपा को आने दें. ये सोच हमें खत्म करनी होगी. हम चुनाव जीत सकते हैं और हमें राज्यों में सरकार बनाने चाहिए. हमें राजस्थान, कर्नाटक में चुनाव जीतना होगा. गहलोत पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अगर कोई कह रहा है कि पद की लालसा नहीं है तो वह झूठ बोल रहा है. पॉलिटिक्स में हैं तो महत्वाकांक्षा होनी चाहिए.

गहलोत ने किया था ट्वीट

गौरतलब है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक ट्वीट में कहा था, 'आज मुझे पार्टी ने सब कुछ दिया है, हाईकमान ने सब कुछ दिया है. पिछले 40 साल- 50 साल से मैं पदों पर ही हूं, मेरे लिए अब कोई पद इम्पोर्टेंट नहीं है. मेरे लिए है कि किस प्रकार से मैं जो भी जिम्मेदारी मुझे मिलेगी या जो जिम्मेदारी मुझे लेनी चाहिए, वो मैं निभाऊंगा.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें