scorecardresearch
 

जर्मनी प्लेन विवाद: 'सुनी-सुनाई बातों पर यकीन नहीं', पंजाब सीएम भगवंत मान के सपोर्ट में उनके गांव के लोग

जर्मनी में प्लेन से उतारे जाने के मामले में पंजाब सीएम भगवंत मान को लोगों का सपोर्ट मिल रहा है. लोगों का कहना है कि विपक्ष उन पर झूठे आरोप लगा रहा है. प्लेन मामले का कोई वीडियो सामने नहीं आया है. केवल सीएम मान को बदनाम करने की साजिश की जा रही है. हम उनके साथ हैं.

X
पंजाब सीएम भगवंत मान ( फाइल फोटो )
पंजाब सीएम भगवंत मान ( फाइल फोटो )

पंजाब सीएम भगवंत मान (Punjab CM Bhagwant Mann) को जर्मनी में लुफ्थांसा एयरलाइंस (lufthansa Airline) से नीचे उतारने के मामले में उनके गांव के लोगों की प्रतिक्रिया दी है. लोगों ने कहा है, "प्लेन में क्या हुआ, किसी को नहीं पता है." विपक्ष केवल भगवंत मान को बदनाम करने की कोशिश कर रही है. 

गांव वालों ने जर्मनी दौरे से वापस लौटते समय उठे विवाद को अफवाह बताया है. पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल, सुखपाल सिंह खैरा सहित कांग्रेस के दूसरे नेता लगातार इस मुद्दे पर बयानबाजी कर उठाने में लगे हुए हैं. सुखबीर सिंह बादल ने ही सबसे पहले कहा था कि भगवंत मान को ज्यादा शराब पिए होने के चलते प्लेन से उतारा गया था.

सीएम भगवंत मान के गांव के लोग

पुराने दोस्त ने कहा, सुनी-सुनाई बाते हैं 
सीएम भगवंत सिंह के गांव सतोज के रहने वाले जस्सी सतावर ने आजतक से कहा कि वो और भगवंत मान पुराने मित्र हैं. भगवंत मान ने कभी भी ऐसा कोई काम नहीं किया, जिससे उनके गांव को और पंजाब को शर्मिंदा होना पड़े. हमें अपन भाई पर गर्व है कि वो पंजाब के लोगों के लिए काम कर रहा है. उसके दिल में पंजाब के लिए दर्द है. वह पंजाब के लोगों का भला करना चाहता है.  

मगर, विरोधी उसको दबाने की कोशिश कर रहे हैं. ऐसा ही जर्मनी दौरे को लेकर हो रहा है. जिस कंपनी के विमान से वह भारत वापस आ रहे थे, उस कंपनी की ओर से भी कोई बयान जारी नहीं किया गया है. न ही कोई बताने वाला है और न ही इस मामले में कोई वीडियो सामने आया है. केवल सुनी-सुनाई बातें हैं.

हम भगवंत के साथ खड़े हैं- ग्रामीण 
गांव के ही दूसरे लोगों ने कहा कि पंजाब में पहले की सरकारें जो काम अपने पांच साल के कार्यकाल में नहीं कर पा रही थीं, वे सभी काम भगवंत मान ने सीएम बनने के छह महीने के अंदर करके दिखाए हैं. भगवंत मान बेरोजगारों को रोजगार दे रहे हैं.

इसके साथ ही वह किसानों की समस्याओं को हल करने के लिए दिन-रात लगे हैं. वह किसी करप्शन में लिप्त नहीं है. प्लेन वाले मामले में किसी तरह का वीडियो सामने नहीं आया है. विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए ऐसी बातें की जा रही हैं. हम भगवंत माने के साथ खड़े हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें