scorecardresearch
 

क्या NDA की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का नीतीश करेंगे समर्थन?

एनडीए की तरफ से द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया गया है. सीएम नीतीश कुमार एक बार फिर एनडीए के उम्मीदवार का समर्थन करने जा रहे हैं. जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने द्रौपदी मुर्मू के उम्मीदवार बनने का स्वागत किया है.

X
सीएम नीतीश कुमार सीएम नीतीश कुमार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आदिवासी नेता का विरोध करना नीतीश के लिए मुश्किल
  • 2017 में किया था केंद्र के उम्मीदवार का समर्थन

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने का ऐलान कर दिया है. नीतीश कुमार ने एक बयान जारी करके द्रौपदी मुर्मू को एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने पर प्रसन्नता जताई है.

नीतीश ने कहा कि द्रौपदी मुर्मू एक आदिवासी महिला हैं और एक आदिवासी महिला को देश के सर्वोच्च पद के लिए उम्मीदवार बनाया जाना खुशी की बात है. नीतीश ने अपने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उन्हें जानकारी दी थी कि एनडीए के तरफ से द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया जाने वाला है. नीतीश ने द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद किया है.

इसके अलावा जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने द्रौपदी मुर्मू के उम्मीदवार बनने का स्वागत और उनके राष्ट्रपति बनने का समर्थन किया.

वैसे ऐसे संकेत पहले ही मिल रहे थे कि नीतीश कुमार एनडीए उम्मीदवार का समर्थन कर सकते हैं. उसके बाद जब एनडीए की तरफ से एक आदिवासी उम्मीदवार को जमीन पर उतार दिया गया, नीतीश कुमार के लिए मना करना और ज्यादा मुश्किल हो जाता. कयास लगने लगे थे कि इस बार भी नीतीश कुमार केंद्र के साथ जाने वाले हैं. अब पार्टी की तरफ से आधिकारिक बयान भी जारी कर दिया गया है.

जानकारी के लिए बता दें कि साल 2017 में सीएम नीतीश कुमार ने केंद्र के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन किया था. तब इस वजह से उनकी बिहार में महागठबंधन सरकार ( आरजेडी और कांग्रेस) से भी तकरार हो गई थी. अब इस बार वे बिहार में बीजेपी के साथ सरकार में हैं. कुछ मुद्दों पर तकरार की स्थिति जरूर है, लेकिन राष्ट्रपति चुनाव में वे एनडीए के साथ जा रहे हैं.

वैसे ऐसा भी कहा जा रहा था कि द्रौपदी मुर्मू 2016-2021 के बीच झारखंड की राज्यपाल रही हैं. द्रौपदी मुर्मू की छवि भी बेदाग है. साथ ही, पिछले दिनों नीतीश कुमार ने अपनी ही पार्टी के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष खीरू महतो को राज्यसभा भेजा है. ऐसे में झारखंड कनेक्शन को लेकर भी नीतीश कुमार द्रौपदी मुर्मू के नाम का विरोध नहीं करते. अब उसी तर्ज पर जेडीयू ने एनडीए उम्मीदवार के समर्थन का ऐलान कर दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें