scorecardresearch
 

'पार्थ चटर्जी विधायक पद से इस्तीफा नहीं देना चाहते', जेल में मिलने के बाद वकील का दावा

इंडिया टुडे से बात करते हुए पार्थ चटर्जी के वकील सुकन्या भट्टाचार्य ने कहा कि जब मैं जेल में पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी से मिला, तो उन्होंने दावा किया कि वह विधायक पद से इस्तीफा नहीं देना चाहते हैं. बल्कि वह खुद को निर्दोष साबित करना चाहते हैं और जेल से बाहर आना चाहते हैं.

X
फाइल फोटो
फाइल फोटो

पश्चिम बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले में आरोपी पूर्व कैबिनेट मंत्री पार्थ चटर्जी से कोलकाता की प्रेसीडेंसी जेल के अंदर मुलाकात के बाद उनके वकील ने दावा किया है कि पार्थ विधायक पद से इस्तीफा नहीं देना चाहते. 

इंडिया टुडे से बात करते हुए पार्थ चटर्जी के वकील सुकन्या भट्टाचार्य ने कहा कि जब मैं जेल में पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी से मिला, तो उन्होंने दावा किया कि वह विधायक पद से इस्तीफा नहीं देना चाहते हैं. बल्कि वह खुद को निर्दोष साबित करना चाहते हैं और जेल से बाहर आना चाहते हैं. बीते शुक्रवार को अदालत में सुनवाई के दौरान पार्थ के वकील ने कहा था कि पार्थ एक साधारण आदमी है और वह 72 साल के हैं. वह पहले ही मंत्रालय खो चुके हैं और अब वह विधायक पद से भी इस्तीफा देने को तैयार हैं. 

कोर्ट में वकील की ओर से ऐसा कहे जाने के बाद पार्थ चटर्जी के राजनीतिक भविष्य को लेकर कयास लगने शुरू हो गए थे, लेकिन शनिवार को पार्थ ने अपने वकील से कहा कि वो कभी भी विधायक पद से इस्तीफा नहीं देना चाहते थे. कोलकाता की प्रेसीडेंसी जेल में पार्थ चटर्जी के साथ 5 मिनट की बैठक के बाद उनके वकील सुकन्या भट्टाचार्य ने इंडिया टुडे से कहा कि पार्थ को कोई विशेष कैदी का दर्जा नहीं मिला है, इसलिए उन्हें सोने के लिए फर्श दिया गया है. 

पार्थ ने की किताबों की मांग 

वकील की ओर से बताया गया कि पार्थ पूरी रात ठीक से सो भी नहीं पाए. शनिवार को उन्हें लंच में दाल-चावल दिया गया. चटर्जी ने जेल में समय बिताने के लिए अपने वकील से अपनी कुछ पसंदीदा किताबों की मांग की. पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री ने भी अपने वकील से दावा किया, वह अभी भी अपनी पार्टी और सुप्रीमो पर भरोसा रखते हैं. 

पश्चिम बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री और शिक्षक भर्ती घोटाले में आरोपी पार्थ चटर्जी इस वक्त प्रवर्तन निदेशालय (ED) की गिरफ्त में हैं. जांच एजेंसी ने उन्हें कोलकाता के प्रेसीडेंसी करेक्शनल होम में रखा है. उन्हें यहां के ‘पोइला बैश’ ब्लॉक में रखा गया है. इस ब्लॉक में कुल 22 बैरक हैं और पार्थ चटर्जी को बैरक नंबर-2 में रखा गया है.

(इनपुट- राजेश साहा)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें