scorecardresearch
 

महाराष्ट्र: उद्धव समर्थक शिवसेना के जिलाध्यक्ष विजय साल्वी को तड़ीपार करने का नोटिस

महाराष्ट्र की राजनीति में एक बार फिर बवाल हो सकता है. उद्धव ठाकरे के समर्थक और कल्याण से शिवसेना के जिलाध्यक्ष विजय साल्वी को मुंबई पुलिस तड़ीपार होने का नोटिस जारी किया है. नोटिस में कहा गया है कि साल्वी को ठाणे, मुंबई और रायगढ़ जिलों से 2 साल के लिए तड़ीपार रहना होगा.

X
उद्धव ठाकरे (File Photo)
उद्धव ठाकरे (File Photo)

शिवसेना (उद्धव गुट) के जिलाध्यक्ष को पुलिस ने तड़ीपार करने का नोटिस जारी किया है. इस एक्शन से महाराष्ट्र की राजनीति में फिर बवाल शुरू हो सकता है.  
 
कल्याण के जिलाध्यक्ष विजय साल्वी उर्फ बंड्या शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के समर्थक हैं. साल्वी को सहायक पुलिस आयुक्त उमेश माने पाटिल ने ठाणे, मुंबई और रायगढ़ जिलों से 2 साल के लिए तड़ीपार होने का नोटिस जारी किया गया है.

नोटिस जारी होने के बाद इसे लेकर हड़कंप मच गया है. पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे समर्थक शिवसैनिकों ने इस घटना को लेकर अपना गुस्सा जाहिर किया है. साल्वी ने तड़ीपार करने का नोटिस मिलने की बात की पुष्टि की है.

नागरिकों को जान का खतरा

पुलिस ने यह नोटिस महाराष्ट्र पुलिस एक्ट 1951 की धारा 56(1)(एबी) के तहत जारी किया है. नोटिस में कहा गया है कि महात्मा फुले थाना, बाजारपेठ थाने की सीमा में साल्वी ने कई तरह के अपराध किए हैं. उनकी वजह से क्षेत्र के नागरिकों की जान को खतरा है और उनमें भय का माहौल पैदा हो गया है.

डर से गवाही देने नहीं आते लोग

नोटिस में आगे कहा गया है कि साल्वी के आपराधिक कृत्य के कारण, आम नागरिक उनके खिलाफ गवाही देने के लिए आगे नहीं आते हैं. अपराध करने का मौका मिलते ही साल्वी सार्वजनिक स्थानों पर मोर्चा, आंदोलन, तख्तियां लेकर चलते हैं.

थाने में दर्ज हैं 15 मामले

नोटिस में कहा गया है कि साल्वी के खिलाफ महात्मा फुले थाना, बजारपेट थाने में 15 मामले दर्ज हैं. इससे उनकी आपराधिक पृष्ठभूमि साफ हो जाती है. इसलिए, कानून और व्यवस्था को बनाए रखने और उनकी आपराधिक गतिविधियों से रोकने के लिए, दो साल के लिए तड़ीपार किया जा रहा है. 

जेल जाने को तैयार- साल्वी

नोटिस पर विजय साल्वी ने कहा है कि उनके खिलाफ दर्ज अपराध राजनीतिक हैं. कुछ अपराध उस समय के हैं, जब मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे जिला प्रमुख थे. सात मामले लंबित हैं. साल्वी ने कहा कि अगर सिर्फ शिंदे गुट में शामिल होने के लिए इस तरह की धमकी दी जा रही है तो हम जेल जाने को तैयार हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें