scorecardresearch
 

'पीएम मोदी CBI, ED का दुरुपयोग नहीं कर रहे, बल्कि...', बोलीं बंगाल की सीएम ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल में केंद्रीय एजेंसियों के कथित अत्याचार के खिलाफ विशेष प्रस्ताव लाया गया. इसे पेश करते हुए बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने पीएम मोदी से गुजारिश की है कि सरकार और पार्टी के कामकाज को मिक्स ना किया जाए.

X
बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा (फाइल फोटो)
बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला है. लेकिन इस दौरान वह पीएम नरेंद्र मोदी को लेकर थोड़ी नरम दिखीं. ममता ने कहा कि उनके हिसाब से केंद्रीय जांच एजेंसियों का गलत इस्तेमाल पीएम मोदी नहीं बल्कि बीजेपी ने दूसरे नेता अपने फायदे के लिए कर रहे हैं. सीएम ममता ने यह बात बंगाल विधानसभा में कही. यहां उन्होंने केंद्रीय एजेंसियों के कथित अत्याचार के खिलाफ विशेष प्रस्ताव पेश किया. यह प्रस्ताव बंगाल विधानसभा में पास हो गया.

ममता ने कहा कि बीजेपी एक वॉशिंग मशीन बन गई है, जो उसके साथ मिल जाता है, आरोपों के बावजूद उसकी जांच नहीं होती. मैं यह नहीं मानती कि पीएम मोदी सीबीआई, ईडी का दुरुपयोग कर रहे हैं. बल्कि कुछ बीजेपी नेता अपने फायदे के लिए ऐसा कर रहे हैं. मैं पीएम मोदी से गुजारिश करती हूं कि सरकार और पार्टी के कामकाज को मिक्स ना किया जाए. यह देश के लिए अच्छा नहीं होगा. ममता ने आगे कहा कि बीजेपी 2024 के चुनाव में बुरी तरह विफल होगी.

प्रस्ताव लाते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल सरकार यह प्रस्ताव ला सकती है क्योंकि यह लोगों की चुनी हुई सरकार है. यह सरकार किसी की बंधुआ मजदूर नहीं है.

केंद्रीय एजेंसियों के कथित अत्याचार के खिलाफ ममता बनर्जी का लाया गया यह प्रस्ताव पास हो गया. 189 वोट प्रस्ताव के पक्ष में पड़े. वहीं 64 इसके खिलाफ. वहीं एक सदस्य इस वोटिंग के दौरान मौजूद नहीं थे.

बीजेपी नेताओं के यहां मिलेगा पैसों का पहाड़- ममता बनर्जी

बंगाल सीएम ने आगे कहा, 'जिन लोगों ने आज भगवा पहना हुआ है, अगर उनके घर पर छापा पड़े तो पैसों का पहाड़ वहां मिलेगा. लेकिन बीजेपी एक वॉशिंग मशीन है.' ममता ने आगे कहा कि चिट फंड केस में हमारे नेताओं पर छापे पड़े, उनको समन किया गया. लेकिन उसी केस में शुभेंदु अधिकारी को ना तो समन किया गया और ना ही उनके ठिकानों पर छापा पड़ा. बता दें कि शुभेंदु अधिकारी पहले टीएमसी में थे, लेकिन फिर बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया था.

ममता ने बीजेपी नेताओं से सवाल किया कि वे लोग सीआईडी (राज्य सरकार के अधीन) से इतना डरते क्यों हैं. सीएम ने चैलेंज किया कि उनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का एक भी आरोप लगाकर दिखाएं.

आगे केंद्रीय जांच एजेंसियों पर सवाल खड़े करते हुए ममता ने कहा कि आजतक सीबीआई ने कितने केस सुलझाए हैं? उन्होंने कहा कि बंगाल चुनाव के बाद हुई हिंसा के 100 मामले सीबीआई के पास दर्ज हुए थे. इसमें से 75 फर्जी पाए गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें