scorecardresearch
 

'सेटिंग हो गई है' मैसेज देने के लिए PM मोदी से मिलती हैं ममता, दिलीप घोष के बयान से बवाल

एक ओर जहां टीएमसी संसद के मौजूदा सत्र में महंगाई समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर केंद्र सरकार और उसकी नीतियों का जमकर विरोध कर रही है. वहीं ममता सरकार में मंत्री रहे पार्थ चटर्जी ईडी की कार्रवाई का सामना कर रहे हैं. ऐसे में पीएम मोदी से होने वाली उनकी मुलाकात को लेकर तमाम तरह के बयान सामने आ रहे हैं.

X
पीएम मोदी से ममता बनर्जी शुक्रवार को करेंगे मुलाकात (फाइल फोटो) पीएम मोदी से ममता बनर्जी शुक्रवार को करेंगे मुलाकात (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगी. वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने ममता बनर्जी पर गंभीर आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपनी बैठकों का उपयोग यह संदेश देने के लिए करती हैं कि सेटिंग हो गई है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इस बात पर ध्यान देन चाहिए. उसे ममता के झांसे में नहीं आना चाहिए. 

वहीं तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी के इन आरोपा को खारिज किया है. टीएमसी नेता सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा,"हमारे विरोधी बेबुनियाद आरोप लगाते रहते हैं." सूत्रों ने बताया कि टीएमसी प्रमुख दिल्ली में आज शाम राज्यसभा सदस्य सुखेंदु शेखर रॉय के आवास पर पार्टी सांसदों से मुलाकात करेंगी. बनर्जी संसदों से मौजूदा मॉनसून सत्र और 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर चर्चा कर सकती हैं. इसके अलावा वह उनसे हाल ही में पश्चिम बंगाल में घोषित सात नए जिलों के नामों के सुझाव भी मांग सकती हैं.

द्रौपदी मुर्मू, सोनिया से भी करेंगे मुलाकात

ममता बनर्जी गुरुवार शाम को चार दिवसीय दौरे पर दिल्ली पहुंच गई हैं. ममता बनर्जी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकती है. बनर्जी की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से भी मुलाकात करने की उम्मीद है. 

पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से कहा कि ममता पीएम से पश्चिम बंगाल के लिए जीएसटी बकाया सहित कई मुद्दों पर चर्चा कर सकती हैं. सूत्रों के मुताबिक बनर्जी का संसद के केंद्रीय कक्ष जाने और विपक्ष के कई नेताओं से भी मुलाकात करने का कार्यक्रम है. इसके अलावा वह विपक्षी नेताओं के साथ बैठक कर सकती हैं.

नीति आयोग की बैठक में होंगी शामिल

प्रधानमंत्री मोदी सात अगस्त को नीति आयोग की शासी परिषद की बैठक की अध्यक्षता करेंगे. इसमें कृषि, स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होगी. परिषद की यह बैठक नियमित तौर पर होती है. इसकी पहली बैठक आठ फरवरी 2015 को हुई थी. पिछले वर्ष इस बैठक में ममता बनर्जी शामिल नहीं हुई थीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें