scorecardresearch
 

गुजरात: भूपेंद्र पटेल कैबिनेट का आज गठन संभव, 21 मंत्री ले सकते हैं शपथ

गुजरात में भूपेंद्र पटेल की अगुवाई वाली सरकार की नई कैबिनेट में 21 से 22 मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है. मंत्रिमंडल में नए चेहरों को प्राथमिकता दी जाएगी और महिलाओं की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है.

गुजरात सीएम भूपेंद्र पटेल शपथ लेने के बाद राज्यपाल के साथ गुजरात सीएम भूपेंद्र पटेल शपथ लेने के बाद राज्यपाल के साथ
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भूपेंद्र पटेल सरकार मंत्रिमंडल के गठन में जुटी
  • गुजरात में 21 से 22 मंत्री ले सकते हैं शपथ
  • महिलाओं की संख्या नई कैबिनेट में बढ़ेगी

गुजरात में नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल (Gujarat CM Bhupendra Patel) की ताजपोशी के बाद अब मंत्रिमंडल गठन पर मंथन शुरू हो गया है. भूपेंद्र पटेल सरकार की नई कैबिनेट (Gujarat new cabinet) में 21 से 22 मंत्रियों को बुधवार को मंत्री पद की शपथ दिलाई जा सकती है. मंत्रिमंडल में नए चेहरों को प्राथमिकता दी जाएगी और महिलाओं की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है. ऐसे में कई पुराने और दिग्गज नेताओं की कैबिनेट से छुट्टी भी होगी. जातीय समीकरण को बिठाने के साथ साफ-सुथरी छवि के नेताओं को मंत्रिमंडल में खास तवज्जो दिए जाने की रणनीति है. 

माना जा रहा है कि मंत्रियों के शपथग्रहण के बाद उन्हें 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के मौके पर होने वाले कार्यक्रम के लिए जिम्मा सौंपा जा सकता है. सभी मंत्री को अलग-अलग भेजने का काम हो सकता है. बीजेपी के सूत्रों का कहना है कि मंत्रियों के शपथ ग्रहण की बुधवार को पूरी संभावना है. हालांकि, अभी तक इस संबंध में कोई भी जानकारी गर्वनर आफिस यानी राजभवन के द्वारा नहीं दी गई है. 

बता दें कि बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव को गुजरात के मंत्रिमंडल गठन की जिम्मेदारी सौंपी गई है, जिसे लेकर उन्होंने मंगलवार को बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की थी. इस बैठक में पूर्व सीएम विजय रुपाणी, नितिन पटेल और भूपेंद्र चुडास्मा शामिल थे. माना जा रहा है कि यह बैठक नए मंत्रियों के नाम को लेकर थी. 

वहीं, बीजेपी के सभी विधायकों को दोपहर 12 बजे तक गांधीनगर पहुंचने के लिए कहा गया. माना जा रहा है कि नए मंत्रिमंडल में एक या दो महिलाओं को भी मौका दिया जा सकता है. अगले साल गुजरात विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी जातीय समीकरण को बिठाने के साथ साफ-सुथरी छवि के नेताओं को खास तवज्जों देने की कवायद में है. हालांकि, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल के मंत्रिमंडल में शामिल होने पर अभी तक संशय बना हुआ है. 

विजय रुपाणी कैबिनेट में शामिल रहे 8 से 10 मंत्रियों को सरकार के बजाय संगठन के काम में लगाया जा सकता है. पूर्व सीएम विजय रुपाणी ने भी इस बीच आजतक से कहा है कि पार्टी उन्हें जो भी जिम्मेदारी देगी, वे उसे पूरा करेंगे. मुख्यमंत्री पद गंवाने का जरा भी गम नहीं है. पहले भी सीएम थे और आज भी सीएम (कॉमन मैन) हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें