scorecardresearch
 

'राज्यपाल को शिवाजी की तुलना गडकरी से नहीं करनी चाहिए थी,' बोले महाराष्ट्र BJP अध्यक्ष

महाराष्ट्र में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बावनकुले ने कहा- उन्हें (राज्यपाल) एनसीपी प्रमुख शरद पवार और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तुलना छत्रपति शिवाजी महाराज से नहीं करनी चाहिए थी. महाराष्ट्र के सभी लोग ऐसा ही महसूस करते हैं. हालांकि, यह नहीं भूलना चाहिए कि राज्यपाल शिवाजी महाराज से प्रेरणा लेकर अपने कार्यालय में काम कर रहे हैं.

X
महाराष्ट्र के बीजेपी अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले ने राज्यपाल के बयान पर असहमति जताई है.
महाराष्ट्र के बीजेपी अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले ने राज्यपाल के बयान पर असहमति जताई है.

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी अपने विवादित बयान के बाद अलग-थलग पड़ गए हैं. विपक्षी दलों के जबरदस्त विरोध के बीच अब प्रदेश भाजपा ने भी कोश्यारी के बयान को गलत करार दे दिया है. महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले ने सोमवार को कहा कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार की तुलना महान मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज से नहीं करनी चाहिए थी.

बता दें कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शिवाजी महाराज को पुराने युग का आदर्श बताया था और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को नए युग का आदर्श बताया था. दरअसल, राज्यपाल कोश्यारी औरंगाबाद में स्थित डॉ. बाबासाहेब अंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल हुए थे. यहां उन्होंने केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी और NCP सुप्रीमो शरद पवार को डिलिट की उपाधि से नवाजा.

कोश्यारी के बयान पर महाराष्ट्र में विपक्षी दल एनसीपी, कांग्रेस, शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) और अन्य संगठन विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. राज्यपाल कोश्यारी के बयान पर बीजेपी भी बचाव नहीं कर पा रही है.

राज्यपाल को निशाना बनाने का बहाना ढूंढ रहे विपक्षी दल

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बावनकुले ने बयान दिया है. उन्होंने कहा- उन्हें (राज्यपाल) एनसीपी प्रमुख शरद पवार और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तुलना छत्रपति शिवाजी महाराज से नहीं करनी चाहिए थी. महाराष्ट्र के सभी लोग ऐसा ही महसूस करते हैं. हालांकि, यह नहीं भूलना चाहिए कि राज्यपाल शिवाजी महाराज से प्रेरणा लेकर अपने कार्यालय में काम कर रहे हैं. बावनकुले ने कहा कि राज्य में विपक्ष उन्हें निशाना बनाने का बहाना ढूंढ रहा है और पिछले ढाई साल के उनके अच्छे कामों को नजरअंदाज कर रहा है.

राज्यपाल कोश्यारी ये बयान दिया था

भगत सिंह कोश्यारी ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि अगर कोई आपसे पूछता है कि आपका आदर्श कौन है, तो आपको उसे खोजने के लिए बाहर जाने की जरूरत नहीं है, वे आपको यहीं महाराष्ट्र में मिल जाएंगे. छत्रपति शिवाजी महाराज तो पुराने युग की बात है. अब नए युग में तो डॉ. बाबासाहेब अंबेडकर से लेकर नितिन गडकरी तक आपको यहीं मिल जाएंगे.

उन्होंने कहा- 'पहले जब हम स्कूल-कॉलेज में पढ़ते थे तो हमसे पूछा जाता था कि आपका पसंदीदा हीरो, पसंदीदा नेता कौन है? हम सुभाष चंद्र बोस, जवाहरलाल नेहरू और गांधीजी कहते थे. लेकिन मुझे लगता है कि अगर कोई आपसे पूछे कि आपका आइकन कौन है? आपका पसंदीदा हीरो कौन है? तो महाराष्ट्र के बाहर जाने की जरूरत नहीं है. ये आपको महाराष्ट्र में मिल जाएंगे और 'शिवाजी' उनमें से एक हैं, हालांकि, वह अब पुरानी पीढ़ी के हैं. तो बात करते हैं नई पीढ़ी की जो आपको यहां डॉ. अंबेडकर से लेकर डॉ. गडकरी यानी नितिन गडकरी जी तक मिलेंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें