scorecardresearch
 

शराब नीति पर बीजेपी के स्टिंग ऑपरेशन को लेकर केजरीवाल बोले- चार दिन जांच के लिए बहुत, गड़बड़ नहीं तो CBI माफी मांग ले...

सीएम केजरीवाल ने कहा कि मनीष सिसोदिया के घर जब रेड हुई तो एक पैसा नहीं मिला, उनके लॉकर में कुछ नहीं मिला. गांव में हो कर आ गए वहां भी कुछ नहीं मिला. मैं समझता हूं कि केंद्र सरकार को सुबह से शाम सीबीआई-ईडी छोड़कर देश के लिए कुछ पॉजिटिव काम भी करना चाहिए. 

X
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी पर तीखा हमला बोला. BJP के स्टिंग पर सीएम केजरीवाल ने कहा, 'मनीष जी ने कह दिया है कि सीबीआई में जांच चल रही है, सारे स्टिंग ऑपरेशन सीबीआई को सौंप दो. सीबीआई सोमवार तक जांच कर ले. जांच के लिए 4 दिन बहुत होते हैं और अगर कुछ गड़बड़ है तो गिरफ्तार कर ले और अगर गड़बड़ नहीं है तो सोमवार को माफी मांग ले.' 

आगे केजरीवाल ने कहा कि आज तक मुझे समझ नहीं आया कि ये शराब घोटाला क्या है? पहले कहने लग गए कि डेढ़ लाख करोड़ का घोटाला है, जबकि दिल्ली का कुल बजट ही 70 हजार करोड़ है तो डेढ़ लाख करोड़ का घोटाला कैसे हो गया? BJP के एक और नेता ने कहा कि आठ हजार करोड़ का घोटाला है. तीसरे नेता ने कहा कि 1100 करोड़ रुपये का घोटाला है. LG साहब बोले 144 करोड़ का घोटाला है, जबकि CBI ने अपनी FIR मैं लिखा कि एक करोड़ का घोटाला है.

सीएम ने कहा कि मनीष सिसोदिया के घर जब रेड हुई तो एक पैसा नहीं मिला, उनके लॉकर में कुछ नहीं मिला. गांव में हो कर आ गए वहां भी कुछ नहीं मिला. मैं समझता हूं कि केंद्र सरकार को सुबह से शाम सीबीआई-ईडी छोड़कर देश के लिए कुछ पॉजिटिव काम भी करने चाहिए. 

देश के लिए कुछ पॉजिटिव काम नहीं करेंगे तो देश आगे कैसे बढ़ेगा? 24 घंटे सभी के ऊपर बस सीबीआई-ईडी लगाते रहते हैं. पूरे देश को डरा रखा है. ऐसे देश कैसे आगे बढ़ेगा? अगर कोई गलत काम करे तो उसे पकड़ो, लेकिन सभी के ऊपर सीबीआई-ईडी लगाने से तो देश आगे नहीं बढ़ेगा. 

इधर, आज प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन से पूछताछ करने के लिए तिहाड़ जेल पहुंची है. राउज एवेन्यू कोर्ट ने तीन दिन पूछताछ की इजाजत दी है. उनसे पूछताछ से पहले शुक्रवार को ईडी ने 40 ठिकानों पर छापेमारी की थी. 

इससे पहले केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के अंदर सफाई व्यवस्था बहुत खराब है. चारों तरफ कूड़ा है  सबको बहुत शर्म भी आती है कि हमारी दिल्ली इतनी गंदी क्यों है? खास तौर से ये जो तीन कूड़े के पहाड़ हैं भलस्वा, गाजीपुर और ओखला... ये केवल शर्म का कारण नहीं बल्कि आसपास जितनी आबादी रहती है उनके लिए तो बिल्कुल नर्क की जिंदगी है. 

हमें कोशिश करनी चाहिए थी कि इन तीनों पहाड़ों को खत्म करें और जैसे दुनिया के अन्य शहर हैं, वहां की सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट टेक्निक को लाकर दिल्ली में लागू करनी चाहिए थी. बीजेपी पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा कि अब ये सुनने में आ रहा है कि इन तीन पहाड़ों के अलावा यह लोग 16 और जगहों पर नए कूड़े के पहाड़ बनाने की प्लानिंग कर रहे हैं.

आप कल्पना कर सकते हैं कि अगर 16 कूड़े के पहाड़ पूरी दिल्ली में बन गए तो लगभग सारी दिल्ली के लोग 24 घंटे बदबू का शिकार होंगे. एक तरफ हम लोगों ने दिल्ली में 500 तिरंगे लगाएं,आज दिल्ली तिरंगों का शहर माना जाता है, लेकिन ये लोग दिल्ली को कूड़े के पहाड़ों का शहर बना देंगे. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें