scorecardresearch
 

कर्नाटक: भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में बीएस येदियुरप्पा और उनके परिवार के खिलाफ FIR का आदेश

कर्नाटक की एक अदालत ने भ्रष्टचार के एक मामले में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने और जांच शुरू करवाने के आदेश दिए हैं. इस संबंध में टीजे अब्राहम नाम के एक व्यक्ति ने कोर्ट में याचिका दायर की थी, निचली कोर्ट में अपील स्वीकार न होने पर अब्राहम ऊपरी अदालत पहुंचे, जहां उन्हें सफलता मिलती दिख रही है.

X
बीएस येदियुरप्पा (File Photo)
बीएस येदियुरप्पा (File Photo)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री की कुर्सी से हटने के बाद अब बीएस येदियुरप्पा मुसीबतों में घिरते नजर आ रहे हैं. कर्नाटक की एक अदालत ने राज्य के पूर्व सीएम-दिग्गज बीजेपी नेता येदियुरप्पा और उनके परिवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में केस दर्ज करने का आदेश दिया है.

कोर्ट का आदेश आने के बाद  येदियुरप्पा ने भी इस मुद्दे पर अपनी सफाई दी है. ये आदेश एक निजी शिकायत पर एडिशनल सिटी सिविल एंड सेशन जज कोर्ट की तरफ से दिए गए हैं.

अदालत का आदेश कर्नाटक हाई कोर्ट के उस आदेश के ठीक एक सप्ताह बाद आया है, जिसमें 7 सितंबर को कोर्ट ने विशेष अदालत को शिकायत पर नए सिरे से सुनवाई करने के निर्देश दिए थे.

मामले की शिकायत निचली अदालत में 8 जुलाई को रद्द कर दी गई थी. तब शिकायतकर्ता टीजे अब्राहम को राज्यपाल से मंजूरी न मिलने के चलते यह फैसला लिया गया था. बाद में सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि शिकायतकर्ता राज्यपाल से मंजूरी लेने के लिए सक्षम प्राधिकारी नहीं था. 

बता दें कि शिकायत सीधे तौर पर तत्कालीन मुख्यमंत्री येदियुरप्पा और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ है.आरोप लगाया गया है कि बीडीए (बैंगलोर विकास प्राधिकरण) के ठेके दिलाने के बदले में रिश्वतखोरी कई गई है.

कोर्ट के आदेश पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए येदियुरप्पा ने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. उन्होंने कहा,'किसी भी आरोप में कोई सच्चाई नहीं है. मैं इन सभी (मामलों) से बाहर आऊंगा. ये चीजें स्वाभाविक हैं, मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.' उन्होंने आगे कहा कि निश्चित तौर पर यह उनके खिलाफ एक साजिश है.

शिकयातकर्ता अब्राहम ने एमएस रामलिंगम कंस्ट्रक्शन कंपनी प्राइवेट लिमिटेड के पक्ष में बीडीए पर वर्क ऑर्डर जारी करने का आरोप लगाया था. शिकायतकर्ता के मुताबिक इस काम के बदले में रिश्वत ली गई थी. कंपनी के मालिक का नाम चंद्रकांत रामलिंगम है.

इन्हें बनाया गया है आरोपी

पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा, येदियुरप्पा के बेटे बीवाई विजयेंद्र, येदियुरप्पा के पोते शशिधर मराडी, उनकी बेटी पद्मावती के पति विरुपक्षप्पा यमकानामरादि, उनकी बेटी के दामाद संजय श्री, बीडीए ठेकेदार चंद्रकांत रामलिंगम, विधायक और बीडीए के पूर्व चेयरमैन एसटी सोमशेखर, बीडीए के पूर्व कमिश्नर डॉ. जीसी प्रकाश (IAS), क्रिसेंट होटल के मालिक के रवि.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें