scorecardresearch
 

अरविंद केजरीवाल ने झूठ बोलने का नया कीर्तिमान बना दिया, बीजेपी ने किया पलटवार

अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी के 'रेवड़ी कल्चर' वाले तंज पर जवाब देते हुए कहा था कि आम आदमी ठगा सा महसूस कर रहा है, क्योंकि केंद्र सरकार ने गरीब के खाने पर भी टैक्स लगा दिया है. पिछले कुछ दिनों से जिस तरह से जनता को मुफ्त में मिलने वाली सुविधाओं का विरोध किया जा रहा है. क्या केंद्र सरकार की आर्थिक हालत ज्यादा खराब तो नहीं हो गई है? इन आरोपों के बाद बीजेपी ने उन पर पलटवार किया.

X
बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने केजरीवाल पर किया पलटवार (फाइल फोटो)
बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने केजरीवाल पर किया पलटवार (फाइल फोटो)

दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को दिन में केंद्र सरकार पर आरोप लगाए तो बीजेपी ने शाम होते-होते उन पर पलटवार कर दिया. बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने हमला बोलते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल ने झूठ बोलने का नया कीर्तिमान बना दिया. उनकी की असत्य की दुनिया में आपका स्वागत है. यह कहना गलत नहीं होगा कि दिल्ली मॉडल फेल हो गया है. उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने मनरेगा का बजट कम करने की गलत जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि सरकार ने मनरेगा का 25 फीसदी और बजट बढ़ा दिया गया. इस बजट में कोई कटौती नहीं की गई. 2021-22, 2022-23 में जब सरकार ने मनरेगा का बजट पेश किया तो 73 हजार करोड़ अनुदान था. इसको बढ़ा कर 98 हजार करोड़ किया गया है लेकिन अरविंद केजरीवाल झूठ बोल रहे हैं.

मालूम हो कि दिल्ली सीएम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूछा था कि केंद्र सरकार का 40 लाख का बजट है, लेकिन सारा पैसा कहां जा रहा है? केजरीवाल ने आगे आरोप लगाते हुए कहा, 'इन्होंने (केंद्र) अपने सुपर अमीर दोस्तों के लाखों-करोड़ों के कर्जे माफ कर दिए, क्यों? ये कर्जे माफ नहीं होते तो टैक्स नहीं लगाना पड़ता. साढ़े 3 लाख करोड़ की आमदनी पेट्रोल-डीजल के टैक्स से होती है? कहां गया पैसा?'

सतेंद्र जैन, मनीष सिसोदिया के घर नहीं जाता पैसा

'पैसा कहां आता है' इस सवाल पर गौरव भाटिया ने तंज कसते हुए कहा कि पैसा सतेंद्र जैन के घर नहीं जाता है. मनीष सिसोदिया और उनके परिवार के लिए इस्तेमाल नहीं होता है. 80 करोड़ भारतीयों को दो साल तक इस पैसे से मुफ्त राशन मिला है.इस पैसे से जनता को 200 करोड़ टीके लगे.

केजरीवाल वादा करना जानते हैं, निभाना नहीं

गौरव भाटिया ने आरोप लगाते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल को सिर्फ वादा करना है लेकिन इसे निभाना नहीं जानते. इन्होंने कहा था कि 2015 से लेकर 2021 के बीच हम 500 नए स्कूल बनाएंगे. 500 स्कूल तो खुले नहीं लेकिन 16 स्कूल बंद हो गए. कई स्कूल तो ऐसे हैं, जहां प्रधानचार्य नहीं हैं. उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने अपने वादे का आधा भी काम नहीं किया. उन्होंने 8 लाख नौकरियों देने का वादा किया था लेकिन वह 440 लोगों को नौकरी दे पाए.
केजरीवाल ने आरोप लगाते हुए कहा था, 'सरकारी स्कूल बंद करने की बात हो रही है. फ्री इलाज बंद होना चाहिए ऐसा कहा जा रहा है, लेकिन ऐसे में गरीब पैसा कहां से लाएगा. सरकारी पैसा चंद लोगों पे उड़ाया तो देश कैसे चलेगा?'

सरकार ने कर्ज माफ नहीं वसूल किया है: अमित मालवीय

केजरीवाल के दावे पर बीजेपी की तरफ से आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कर्ज माफ नहीं किया है, बल्कि 2014-15 से 6.5 लाख करोड़ का कर्ज वसूल किया है. उन्होंने कहा कि केंद्र ने ऐसा कहीं नहीं कहा कि अग्नीवीर स्कीम पेंशन बिल को कम करने के लिए लाई गई है. मालवीय ने कहा कि मोदी सरकार के पास सेना के लिए पैसा है. यह भी कहा गया कि खुले खाने के सामान पर कोई टैक्स सरकार ने नहीं लगाया है. वहीं राज्यों द्वारा वसूले जाने वाला VAT पहले से लगता रहा है.

अमित मालवीय ने आगे कहा कि केजरीवाल झूठ बोल रहे हैं कि सरकार ने MNREGA स्कीम के बजट में कटौती की है. बल्कि राज्य पैसा खर्च करने में विफल रहे हैं. मालवीय ने आगे कहा कि केंद्र सरकार 80 करोड़ लोगों को फ्री राशन दे रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें