scorecardresearch
 

'आपका आभारी हूं', असदुद्दीन ओवैसी की किस बात पर साथ आए बीजेपी सांसद वरुण गांधी?

ओवैसी ने एक सभा के दौरान कहा था कि देश में केंद्र और राज्य सरकारों के विभिन्न विभागों में करीब 60 लाख पद खाली हैं. उन्होंने कहा, देश बेरोजगारी के रिकॉर्ड स्तर पर है. ओवैसी ने केंद्र पर निशाना साधते हुए विभागों में खाली पदों की संख्या बताई. इस दौरान ओवैसी ने कहा कि जो आंकड़े मैं बता रहा हूं, वे और कहीं से नहीं आए, बल्कि बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने जारी किए हैं.

X
बेरोजगारी के मुद्दे पर वरुण गांधी को मिला ओवैसी का साथ
बेरोजगारी के मुद्दे पर वरुण गांधी को मिला ओवैसी का साथ
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बेरोजगारी के मुद्दे पर ओवैसी ने साधा केंद्र पर निशाना
  • ओवैसी ने वरुण गांधी द्वारा शेयर किए गए आंकड़ों का किया जिक्र

पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी बेरोजगारी और युवाओं के मुद्दों पर लगातार अपनी ही सरकार पर निशाना साध रहे हैं. अब उन्होंने AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी का धन्यवाद कहा है. दरअसल, ओवैसी ने अपनी एक सभा के दौरान देश में खाली पड़े सरकारी पदों का जिक्र किया था. इस दौरान उन्होंने जो आंकड़े दिए थे, वो वरुण गांधी के हवाले से दिए थे. 

ओवैसी ने एक सभा के दौरान कहा था कि देश में केंद्र और राज्य सरकारों के विभिन्न विभागों में करीब 60 लाख पद खाली हैं. उन्होंने कहा, देश बेरोजगारी के रिकॉर्ड स्तर पर है. ओवैसी ने केंद्र पर निशाना साधते हुए विभागों में खाली पदों की संख्या बताई. इस दौरान ओवैसी ने कहा कि जो आंकड़े मैं बता रहा हूं, वे और कहीं से नहीं आए, बल्कि बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने जारी किए हैं. 

वरुण गांधी ने ओवैसी को कहा धन्यवाद

वरुण गांधी ने ट्वीट किया, बेरोजगारी आज देश का सबसे ज्वलंत मुद्दा है और पूरे देश के नेताओं को इस मुद्दे पर सरकार का ध्यान आकृष्ट कराना चाहिए. बेरोजगार नौजवानों को न्याय मिलना चाहिए, तभी देश शक्तिशाली बनेगा. 

उन्होंने कहा, मैं आभारी हूं की रोजगार के ऊपर उठाए गए मेरे सवालों का असदुद्दीन ओवैसी ने अपने भाषण में जिक्र किया. 

 

वरुण गांधी ने शेयर किए थे आंकड़े

दरअसल, वरुण गांधी ने हाल ही में विभिन्न विभागों के तहत खाली पड़े पदों का जिक्र किया था. वरुण गांधी ने कहा था कि जब बेरोजगारी 3 दशकों के सर्वोच्च स्तर पर है तब यह आंकड़े चौंकाने वाले हैं. जहां भर्तियां न आने से करोड़ों युवा हताश व निराश है, वहीं 'सरकारी आँकड़ों' की ही मानें तो देश में 60 लाख 'स्वीकृत पद' खाली हैं. उन्होंने पूछा था कि कहां गया वो बजट जो इन पदों के लिए आवंटित था?  यह जानना हर नौजवान का हक है!

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें