scorecardresearch
 
भारत

देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...

देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 1/22
26 नवंबर 2008 को मुंबई में देश का सबसे बड़ा आतंकी हमला हुआ. इस हमले में छत्रपति शिवाजी टर्मिनल, ताजमहल पैलेस होटल, ओबेराय ट्राईडेंट, लियोपोल्ड कैफे व नरिमन हाउस जैसे मुम्बई के कुछ प्रमुख स्थानों को निशाना बनाया गया.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 2/22
ये आतंकी घटना इतनी प्लान की गई और बड़ी थी कि 29 नवंबर तक सेना के ऑपरेशन के बाद इसका अंत हुआ.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 3/22
गृह मंत्रालय में आंतरिक मामलों के विशेष सचिव एमएल कुमावत ने तब कहा था कि आतंकी हमलों में 22 विदेशियों सहित 183 लोगों की मौत हुई है. इस कार्रवाई में 20 जवान भी शहीद हो गए.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 4/22
मुंबई का ताज होटल इस हमले में बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था. हालांकि बाद में इसे फिर से ठीक किया गया और लोगों के लिए खोल दिया गया.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 5/22
यह तस्वीर देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पाकिस्तान से आए आतंकियों के मकसद कितने नापाक थे.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 6/22
सुरक्षा बलों को जैसे ही खबर मिली, उन्होंने मोर्चा संभाल लिया. तीन दिन तक आतंक के खिलाफ चली इस कार्रवाई में 9 आतंकवादियों को मार गिराया गया.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 7/22
सभी आतंकियों के पास पाकिस्तान के पहचान-पत्र पाए गए थे. ये आतंकी अरब सागर से होते हुए कोलाबा पहुंचे थे और फिर समुद्री रास्ते से ही मुंबई में प्रवेश किया.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 8/22
मुंबई हमले को देश का सबसे बड़ा आतंकवादी हमला माना जाता है. इस आतंकी हमले में मरने वालों में जर्मन नागरिकों सहित जापान, कनाडा और ऑस्‍ट्रेलिया के नागरिक भी थे.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 9/22
पहले इसे मामूली हमला समझकर पुलिस ने रोकने की कोशिश की, लेकिन ये हमला पूरी तैयारी के साथ किया गया था. इसलिए बाद में कमांडो फोर्स ने मोर्चा संभाला और तबाही मचा रहे आतंकियों को मार गिराया.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 10/22
हालांकि इस हमले में जान और माल का बहुत नुकसान उठाना पड़ा, लेकिन इसके बाद सुरक्षा इतनी कड़ी कर दी गई कि फिर से इस तरह का हमला न हो सके.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 11/22
भारतीय सेना के जवानों ने हर मोर्चे पर रहकर आतंकियों से लड़ाई की. आतंकी छिपकर हमला कर रहे थे. उनके पास ग्रेनेड और राइफल्स थीं.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 12/22
हमले में कथित भूमिका निभाने को लेकर लखवी, अब्दुल वाजिद, मजहर इकबाल, हम्माद अमीन सादिक, शाहिद जमील रियाज, जमील अहमद और यूनुस अंजुम को जुलाई 2009 में गिरफ्तार किया गया. ये अब भी गिरफ्त में हैं और अब इन सात पाकिस्तानी आरोपियों ने अपने मुकदमे को आगे बढ़ाने के लिए दो नए वकील भी रखे हैं.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 13/22
जिन-जिन जगहों पर 26/11 को हमला हुआ, वहां एनएसजी कमांडो और आतंकवादियों के बीच तीन दिन तक गोलीबारी चली.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 14/22
आतंकियों की मंशा बहुत ही खतरनाक थी. लोगों को मारने के बाद उन्होंने उनके शवों के नीचे डेटोनेटर रख दिए थे, ताकि यदि कोई उन्हें छुए तो विस्फोट हो जाए.
और जब एक जिंदा आतंकी पकड़ा गया तो उसने सबसे पहले यही कहा, 'मुझे मार दो, मैं मरने के लिए ही आया हूं.'
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 15/22
इस हमले में लोगों की जान बचाने के लिए कमांडोज़ की जितनी सराहना की जाए, कम होगी. कमांडोज ने लगातार तीन दिन तक लड़ाई लड़ी. उन्हें आतंकियों से लड़ना भी था और यह भी ध्यान रखना था कि कहीं किसी निर्दोष नागरिक की जान न चली जाए.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 16/22
एनएसजी कमांडोज ने 47 घंटे की जद्दोजहद के बाद नरीमन हाउस को आतंकियों के चंगुल से आजाद करा लिया था.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 17/22
इस हमले में पुलिस तथा आतंकविरोधी दस्ते के कई अधिकारी भी शहीद हो गए. आतंकविरोधी दस्ते के प्रमुख हेमंत करकरे, मुठभेड़ विशेषज्ञ उप निरीक्षक विजय सालस्कर, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अशोक कामटे, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त सदानंद दाते और राष्ट्रीय सुरक्षा बल के मेजर कमांडो संदीप उन्नीकृष्णन, निरीक्षक सुशांत शिंदे, सहायक उप निरीक्षक-नानासाहब भोंसले, सहायक उप निरीक्षक-तुकाराम ओंबले, उप निरीक्षक प्रकाश मोरे, उप निरीक्षक दुदगुड़े, कांस्टेबल-विजय खांडेकर, जयवंत पाटिल, योगेश पाटिल, अंबादोस पवार तथा एम. सी. चौधरी शहीद हो गए थे.
इन शहीदों को हर साल श्रद्धासुमन अर्पित किए जाते हैं.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 18/22
इस हमले से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने 200 एनएसजी कमांडो को मुंबई पुलिस की सहायता के लिए भेजा था.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 19/22

ये तस्वीर आतंकी अजमल कसाब की है. घटना के बाद एकमात्र पकड़ा किया गया जीवित आतंकवादी अजमल आमिर कसाब. कसाब को 21 नवम्बर 2012 को पुणे के यरवदा जेल में फांसी पर लटका दिया गया था.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 20/22
पुलिस और एनएसजी कमांडोज ने मिलकर इस ऑपरेशन को संभाला.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 21/22
शहीद हुए तमाम लोगों को हर बरस श्रद्धांजलि दी जाती है.
देखें: आतंकियों ने मुंबई में कैसे फैलाई थी दहशत...
  • 22/22
दिन और रात दोनों मानो एक समान हो गए थे. देशभर में लोग यह खबर सुनना चाहते थे कि सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है और आतंकियों को ढेर कर दिया गया है.