scorecardresearch
 
भारत

सर्जिकल नहीं, इन चारों को करो साफ, आतंक का होगा काम तमाम!

सर्जिकल नहीं, इन चारों को करो साफ, आतंक का होगा काम तमाम!
  • 1/6
पुलवामा हमले और हमारे जवानों की शहादत का बदला आखिर क्या हो सकता है? उरी हमले के बाद हमने लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पार कर आतंकवादी कैंपों को निशाना बनाकर सर्जिकल स्ट्राइक किया था. जाहिर है अब दोबारा ऐसा करना जोखिम भरा होगा. वैसे भी आतंकवादी कैंपों को निशाना भर बनाने से मसला हल नहीं होने वाला है, हमले के बाद और कैंप लग जाएंगे, और आतंकवादी उन कैंपों तक पहुंच जाएंगे, तो फिर रास्ता क्या है? हल क्या है? बदला क्या है? जवाब है 'ऑपरेशन फोर'. यानी पाकिस्तान में बैठे आतंक के उन 4 आकाओं का खात्मा जो आतंकवादियों की खेप हिंदुस्तान भेजते हैं. (Photo: File)
सर्जिकल नहीं, इन चारों को करो साफ, आतंक का होगा काम तमाम!
  • 2/6
ऐसे हमले न हों इसके लिए आतंकवादियों को नहीं, बल्कि उन्हें पैदा करने वाले उनके आकाओं को खत्म करना जरूरी है. ये आका हैं- मसूद अजहर, हाफिज सईद, सैय्यद सलाउद्दीन और दाऊद इब्राहिम. यही वो 4 नाम हैं जिसने अलग-अलग रूप में आतंक के हजारों चेहरे हिंदुस्तान भेजे हैं. इस बीच सवाल ये है कि इन तक पहुंचा कैसे जाए या फिर पाकिस्तान में ही घुसकर इनका पूरा हिसाब-किताब कैसे किया जाए और पाकिस्तान की गोद में पलने वाले ये लोग पाकिस्तान के किन-किन ठिकानों पर छुपे हैं? (Photo: File)
सर्जिकल नहीं, इन चारों को करो साफ, आतंक का होगा काम तमाम!
  • 3/6
टारगेट नंबर 1- मसूद अजहर
आतंकी संगठन- जैश-ए-मोहम्मद
ठिकाना - बहावलपुर और कराची
काम- सामाजिक संगठन के नाम पर आतंकी तैयार करना
संरक्षण कौन दे रहा- इमरान खान, पाकिस्तानी सेना, आईएसआई
(Photo: File)
सर्जिकल नहीं, इन चारों को करो साफ, आतंक का होगा काम तमाम!
  • 4/6
टारगेट नंबर 2- हाफिज सईद
पहचान- अंतरराष्ट्रीय घोषित आतंकवादी
इनाम- करीब 70 करोड़ रुपये
आतंकी संगठन- लश्कर-ए-तैयबा, जमात उद दावा
ठिकाना- जौहर टाऊन, लाहौर
काम- कश्मीर की आजादी के नाम पर बरगलाना, आतंकी हमले कराना
संरक्षण- इमरान ख़ान, पाकिस्तानी सेना, आईएसआई
(Photo: File)
सर्जिकल नहीं, इन चारों को करो साफ, आतंक का होगा काम तमाम!
  • 5/6
टारगेट नंबर 3- सैय्यद सलाहुद्दीन
पहचान- घोषित अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी
आतंकी संगठन- हिज्बुल मुजाहिदीन, यूनाइटेड जेहाद काउंसिल
ठिकाना- पीओके
काम- कश्मीर की आजादी के नाम पर आतंकी हमले कराना.
संरक्षण- इमरान ख़ान, पाकिस्तानी सेना, आईएसआई
(Photo: File)
सर्जिकल नहीं, इन चारों को करो साफ, आतंक का होगा काम तमाम!
  • 6/6
टारगेट नंबर 4- दाऊद इब्राहिम
पहचान- अंतरराष्ट्रीय माफिया डॉन, मुंबई धमाके का गुनहगार
ठिकाना- क्लिफ्टन रोड, कराची
काम- पाकिस्तान समेत कई मुल्कों में ग़ैर क़ानूनी गतिविधियां
(Photo: File)