scorecardresearch
 

कभी इतनी पैदावार कि फेंकने की मजबूरी, फिर अचानक इतना महंगा क्यों हुआ टमाटर? समझें

कभी इतनी पैदावार कि फेंकने की मजबूरी, फिर अचानक इतना महंगा क्यों हुआ टमाटर? समझें

महंगाई के निशाने पर आम आदमी की रसोई है, पहले डीजल की महंगाई के कारण सब्जियों के दाम बढ़ते रहे और अब कई राज्यों में हुई बारिश ने सब्जियों के दामों में रॉकेट की उछाल दे रखी है. जितने में किलो भर मिलता था, अब पाव भर मिलने लगा है. दिल्ली में टमाटर 60 से 90 रुपए किलो बिक रहे हैं, भोपाल में 60 से 80 रुपए किलो हैं टमाटर, वहीं जयपुर में 65 से 95 रुपए किलो बिक रहे हैं टमाटर, लखनऊ में 65 से 85 रुपए किलो, पोर्ट प्लेयर में 113 रुपए किलो तक तो तमिलनाडु में 140 रुपए किलो तक टमाटर बिक रहा है टमाटर. दुनिया में चीन के बाद टमाटर उगाने में भारत नंबर दो है. भारत हर साल करीब 2 लाख मीट्रिक टन टमाटर का निर्यात भी करता है. यानी टमाटर खपत से ज्यादा उगाता है, फिर अभी क्यों इतना टमाटर महंगा हुआ कि लखनऊ में श्रीवास्तव परिवार को संभालने वाली प्रीति श्रीवास्तव ऐसी सब्जी बनाने लगी हैं, जहां टमाटर का इस्तेमाल ना ही हो. देखें ये वीडियो.

These days the price of tomatoes is soaring high. A kilo of tomato selling at Rs 140 per kilogram costs nearly 40 percent more than a liter of petrol, which is selling at Rs 101 in the capital of Tamil Nadu. Not just in Chennai, in most Indian states and cities tomato is the new gold. Similarly, Kerala residents are buying vegetables at Rs 120 per kilo. In Delhi, tomatoes are being sold at nearly Rs 60-80 per kilo. Watch this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें