scorecardresearch
 

PM Modi in Germany: 'दुनिया की बड़ी शक्तियां भारत के साथ चलना चाहती', जर्मनी में बोले पीएम मोदी

PM Modi in Germany: 'दुनिया की बड़ी शक्तियां भारत के साथ चलना चाहती', जर्मनी में बोले पीएम मोदी

PM Modi in Germany: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26-27 जून को होने वाले G7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए जर्मनी पहुंचे. यहां भारतीयों ने उनका जोरदार स्वागत किया. यह मोदी की दो महीने में दूसरी यात्रा है. इससे पहले वह 2 मई को जर्मनी गए थे. पीएम शाम को म्यूनिख में प्रवासी भारतीयों के कार्यक्रम में पहुंचे. उन्होंने आपातकाल का जिक्र करते हुए अपने संबोधन की शुरुआत की. जो डेमोक्रेसी हमारा गौरव है, जो डेमोक्रेसी हर भारतीय के डीएनए में है. उसे 47 साल पहले आज ही के दिन आपातकाल लगाकर डेमोक्रेसी को बंधक बनाने, डेमोक्रेसी को कुचलने का प्रयास किया गया था .इससे पहले उन्होंने कहा कि मैं आप सभी में भारत की संस्कृति, एकता और बंधुत्व के भाव का दर्शन कर रहा हूं. नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत के लोगों ने लोकतंत्र को कुचलने की सारी साजिशों का जवाब, लोकतांत्रिक तरीके से ही दिया. हम भारतीय कहीं भी रहें, डेमोक्रेसी पर गर्व करते हैं. हर हिंदुस्तानी गर्व से कहता है, भारत मदर ऑफ डेमोक्रेसी है. पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि आज भारत के हर गांव तक बिजली पहुंच चुकी है. आज भारत का लगभग हर गांव, सड़क मार्ग से जुड़ चुका है. आज भारत के 99 प्रतिशत से ज्यादा लोगों के पास क्लीन कुकिंग के लिए गैस कनेक्शन है. देखें पूरा संबोधन.

Prime Minister Narendra Modi is on Germany trip these days. While addressing the Indian diaspora in Germany's Munich, he said that the emergency was a blemish on India's vibrant democracy and rights were snatched away during that time. Democracy is our pride, is in the DNA of every Indian. 47 years ago, at this time, an attempt was made to hold that democracy hostage, suppress democracy. Emergency is a black spot on the vibrant history of India's democracy. Every Indian proudly says India is the mother of democracy. Watch full address in this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें