scorecardresearch
 

WHO बोला- साल के अंत तक सभी देश 40 फीसदी जनता को लगा लें टीका

कोरोना महामारी की शुरुआत के डेढ़ साल बाद लगभग हर देश में वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है. टीकाकरण अभियान पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) करीबी से नजर बनाए हुए है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'कोवैक्स के तहत 260 मिलियन टीके भेजे'
  • 'साल के अंत तक 40% जनता को करना होगा वैक्सीनेट'

कोरोना महामारी की शुरुआत के डेढ़ साल बाद लगभग हर देश में वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है. टीकाकरण अभियान पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) करीबी से नजर बनाए हुए है. संगठन ने कहा है कि हर देश को साल के अंत तक अपनी 40 फीसदी जनता को वैक्सीनेट करना होगा और अगले साल के मध्य तक यह आंकड़ा पूरी दुनिया की जनसंख्या का 70 फीसदी होना चाहिए.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख डॉ. टेड्रोस एडहानॉम ने कोरोना वैक्सीनेशन की अहमियत बताते हुए कहा कि जितना लंबे समय तक टीके की असमानता बनी रहेगी, उतना अधिक वायरस फैलता रहेगा और उसमें बदलाव आते रहेंगे. इससे सामाजिक और आर्थिक नुकसान भी बने रहेंगे. इससे और ज्यादा वैरिएंट्स के भी सामने आने की आशंका बनी रहेगी.

उन्होंने कहा, ''कोवैक्स के तहत 141 देशों को 260 मिलियन कोरोना वैक्सीन की सप्लाई की जा चुकी है. लेकिन कोवैक्स के अपनी चुनौतियां हैं. टीका निर्माताओं ने द्विपक्षीय सौदों को ज्यादा प्राथमिकता दी है. वैक्सीन की असामनता का हल निकाला जाना चाहिए.'' 

बता दें कि इन दिनों भारत, अमेरिका समेत लगभग सभी देशों में टीकाकरण अभियान चल रहा है. भारत ने बीते दिन अपने अभियान में बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है. अब तक देश में 75 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं. कई दिन एक करोड़ से ज्यादा टीके लगाए गए, जोकि अपने आप में रिकॉर्ड है. इस साल के अंत तक युवाओं का टीकाकरण पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें