scorecardresearch
 

Weather Today: पूर्वोत्तर मॉनसून का असर, इन राज्यों में आज भी बारिश की संभावना, जानें देश का मौसम

IMD Alert: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में आज, 30 अक्टूबर को न्यूनतम तापमान 15 डिग्री और अधिकतम तापमान 31 दर्ज किया जा सकता है. इसके साथ ही सुबह के वक्त हल्का कोहरा भी दिखाई दे सकता है. प्रदूषण की बात करें तो दिल्ली का एक्यूआई बेहद खराब स्थिति में ही बना रहने की संभावना है. 

X
Weather update today (File Photo)
Weather update today (File Photo)

Weather Update Today: उत्तर भारत के राज्यों में ठंड की दस्तक के साथ मौसम शुष्क बना हुआ है. लेकिन पूर्वोत्तर मॉनसून जल्द ही दस्तक देने को तैयार है. दरअसल, पूर्वोत्तर मॉनसून के लिए आवश्यक मौसम पैरामीटर पहले ही पूरे हो चुके हैं. बंगाल की खाड़ी के ऊपर उत्तर-पूर्वी हवाएं तेज हो गई हैं और जल्द ही पूर्वोत्तर मॉनसून की शुरुआत हो जाएगी. इससे 1 नवंबर से आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों और तमिलनाडु के कई हिस्सों में बारिश की गतिविधियां धीरे-धीरे बढ़ेंगी. आइये जानते हैं देशभर के मौसम का हाल.

दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों के मौसम की बात करें तो राजधानी में आज, 30 अक्टूबर को न्यूनतम तापमान 15 डिग्री और अधिकतम तापमान 31 दर्ज किया जा सकता है. इसके साथ ही सुबह के वक्त हल्का कोहरा भी दिखाई दे सकता है. प्रदूषण की बात करें तो दिल्ली का एक्यूआई बेहद खराब स्थिति में ही बना रहने की संभावना है. 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मिनिमम टेंपरेचर 18 डिग्री और मैक्सिमम टेंपरेचर 31 डिग्री रहने की संभावना है और आसमान साफ बना रहेगा. बता दें कि 29 अक्टूबर (रविवार) को नोएडा का एक्यूआई गंभीर श्रेणी में पहुंचने की संभावना है. रविवार को यहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 411 रह सकता है.

जानिए अपने शहर के मौसम का हाल

शहर न्यूनतम तापमान अधिकतम तापमान
श्रीनगर 3.0 21.0
अहमदाबाद 18.0 37.0
भोपाल 15.0 32.0
चंडीगढ़ 15.0 31.0
देहरादून 15.0 28.0
जयपुर 21.0 35.0
शिमला 12.0 23.0
मुंबई 19.0 34.0
जम्मू 17.0 29.0
लेह -4.0 11.0
पटना 18.0 31.0

पूर्वोत्तर मॉनसून देगा दस्तक

आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तट और रायलसीमा में अलग-अलग जगहों पर भारी बारिश हो सकती है. नेल्लोर, कवाली, तिरुपति और चित्तूर जैसे स्थानों पर कुछ तेज बारिश हो सकती है. श्रीलंका के पास दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र विकसित होने की संभावना है और एक ट्रफ रेखा इस चक्रवाती परिसंचरण से तटीय आंध्र प्रदेश तक फैलेगी.

2 से 4 नवंबर के बीच तमिलनाडु, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के साथ-साथ केरल में बारिश की गतिविधियों में धीरे-धीरे वृद्धि होगी. हालांकि, बाढ़ की बारिश की उम्मीद नहीं है लेकिन कुछ मध्यम से भारी बारिश से इंकार नहीं किया जा सकता है. तमिलनाडु में अक्टूबर से दिसंबर के बीच पूर्वोत्तर मानसून के दौरान सबसे ज्यादा बारिश होती है.

इन पहाड़ी क्षेत्रों में भी होगी बारिश

31 अक्टूबर और 02 नवंबर को एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव में जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद में अलग-अलग स्थानों पर हल्की और मध्यम वर्षा होने की संभावना है. वहीं, 1 नवंबर को हिमाचल प्रदेश में बारिश की संभावना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें