scorecardresearch
 

'...BJP-TMC सांसदों को नहीं करूंगी फोन', उपराष्ट्रपति के लिए विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा ने क्यों कहा

राष्ट्रपति चुनाव के बाद अब उपराष्ट्रपति पद को लेकर गहमागहमी बढ़ गई है. नया उपराष्ट्रपति चुनने के लिए 6 अगस्त को मतदान होना है. एनडीए के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ के खिलाफ विपक्ष की ओर से मार्गरेट अल्वा चुनाव मैदान में हैं. मार्गरेट अल्वा ने सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल और एमटीएनएल को टैग करते हुए एक ट्वीट किया है.

X
मार्गरेट अल्वा (फाइल फोटो) मार्गरेट अल्वा (फाइल फोटो)

राष्ट्रपति चुनाव के बाद अब उपराष्ट्रपति पद के लिए चुनाव को लेकर गहमागहमी है. उपराष्ट्रपति चुनाव में भी सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) और विपक्ष के बीच सीधा मुकाबला है. एनडीए के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ और विपक्ष की कैंडिडेट मार्गरेट अल्वा, दोनों ही पूरा जोर लगा रहे हैं. 6 अगस्त को होने वाले मतदान से पहले दोनों खेमे के उम्मीदवारों ने अपने प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है.

ऐसे में जब राष्ट्रपति चुनाव के बाद उपराष्ट्रपति चुनाव को लेकर प्रचार जोरों पर है, विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा ने अपने फोन पर इनकमिंग और आउटगोइंग कॉल की सेवा बंद हो जाने का आरोप लगाया है. मार्गरेट अल्वा ने अपने ट्वीट में सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल और एमटीएनएल को टैग भी किया.

मार्गरेट अल्वा ने अपने ट्वीट में कहा है कि बीजेपी के कुछ दोस्तों के साथ बातचीत के बाद मेरे मोबाइल फोन की सभी कॉल्स डायवर्ट कर दी गई हैं और मैं कोई कॉल नहीं कर पा रही हूं और ना ही रिसीव कर पा रही हूं. उन्होंने अपने ट्वीट में आगे कहा कि यदि आप मेरा फोन रिस्टोर कर देते हैं तो वादा करती हूं कि बीजेपी, टीएमसी या बीजेडी के किसी भी सांसद को आज की रात से कॉल नहीं करूंगी.

उपराष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा ने अपने ट्वीट में ये सवाल भी किया है कि क्या आपको अब मेरी केवाईसी की जरूरत है? उनकी ओर से ये भी दावा किया गया है कि एमटीएनएल ने उनका केवाईसी निलंबित कर दिया है और सिम कार्ड 24 घंटे के भीतर बंद कर दिया जाएगा. गौरतलब है कि उपराष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष ने मार्गरेट अल्वा को उम्मीदवार बनाया है.

विपक्ष ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल रहे जगदीप धनखड़ को एनडीए की ओर से उम्मीदवार बनाए जाने के बाद मार्गरेट अल्वा को चुनाव मैदान में उतारा. कर्नाटक से आने वाली मार्गरेट अल्वा को विपक्ष की ओर से उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने का ऐलान एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने किया था. पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी टीएमसी ने उपराष्ट्रपति चुनाव से दूर रहने का ऐलान किया है.

6 अगस्त को मतदान, उसी दिन आएंगे नतीजे

वेंकैया नायडू के बाद देश का अगला उपराष्ट्रपति कौन बनेगा, इसे लेकर तस्वीर अगले कुछ दिनों में साफ हो जाएगी. 6 अगस्त को सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान होगा और उसी दिन शाम 5 बजे के बाद वोटों की गिनती होगी. उपराष्ट्रपति चुनाव के नतीजे उसी दिन आ जाएंगे. एम वेंकैया नायडू का उपराष्ट्रपति के पद पर कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें