scorecardresearch
 

पोलैंड में भारतीय नागरिक पर नस्लभेदी टिप्पणी, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

खुद को पोलैंड का जनक समझने वाला वह नागरिक सवाल करता है कि आप पोलैंड में क्यों हैं. क्या आपको लगता है कि आप पोलैंड पर आक्रमण कर सकते हैं. आपका अपना देश है. अपने देश वापस कैसे नहीं जाते हो?. नस्लभेदी टिप्पणी की यह पहली घटना नहीं है. हाल ही में इस तरह की यह तीसरी घटना है.

X
मामले से संबंधित वीडियो ग्रैब
मामले से संबंधित वीडियो ग्रैब

अमेरिका समेत दुनिया के कई देश चांद पर जीवन की तलाश कर रहे हैं. लेकिन मुकम्मल इंसान बनने की कवायद में आज भी पीछे हैं. नस्लभेदी टिप्पणी से यूरोपीय देशों का पुराना नाता रहा है. ऐसा ही एक वीडियो पोलैंड से सामने आया है. यहां एक अमेरिकी भारतीय मूल के नागरिक को परिजीवी कह रहा है. इतना ही नहीं अमेरिकी नागरिक उसे इनवेडर भी कहता है. बता दें कि नस्लभेदी टिप्पणी की यह पहली घटना नहीं है. हाल ही में इस तरह की यह तीसरी घटना है.

मुझे ऐसा करने का अधिकार है
सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. जिसमें अमेरिकी नागरिक भारतीय मूल के नागरिक पर नस्लभेदी टिप्पणी के साथ ही उसे अपशब्द भी कह रहा है. भारतीय नागरिक बार-बार कह रहा है कि वीडियो बनाना बंद करो. इस पर अमेरिकी नागरिक कहता है कि उसे ऐसा करने का अधिकार है क्योंकि यह उसका देश है. इसके साथ ही अमेरिकी नागरिक अपनी धूर्तता से बाज नहीं आता है. वह अभद्रता करना जारी रखता है.

सवाल- अपने देश वापस कैसे नहीं जाते हो
खुद को पोलैंड का जनक समझने वाला वह नागरिक सवाल करता है कि आप पोलैंड में क्यों हैं. क्या आपको लगता है कि आप पोलैंड पर आक्रमण कर सकते हैं. आपका अपना देश है. अपने देश वापस कैसे नहीं जाते हो?. 

कहा- पोलैंड केवल पोलिश के लिए
"यूरोपीय लोग जानना चाहते हैं कि आप आगे बढ़ने के लिए हमारी धरती पर क्यों आ रहे हैं. आप परजीवी क्यों हैं? आप हमारी जाति का नरसंहार कर रहे हैं. आप एक आक्रमणकारी हैं. अपने देश जाओ, आक्रमणकारी. हम आपको यूरोप में देखना नहीं चाहते. पोलैंड केवल पोलिश के लिए. आप पोलिश नहीं हैं. बता दें कि इससे पहले एक भारतीय मूल के नागरिक को अमेरिका के कैलिफोर्निया में नस्लवादी टिप्पणी और हिंदू विरोधी टिप्पणियों का सामना करना पड़ा था।

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें