scorecardresearch
 

कचरा प्रबंधन को लेकर महुआ ने केंद्र सरकार को घेरा, मां काली विवाद में दिल्ली, रांची और असम में FIR 

महुआ मोइत्रा के खिलाफ मां काली पर विवादित बयान देने पर असम, दिल्ली और रांची में शिकायत दर्ज कराई गई है. असम में बजरंग दल, दिल्ली में बीजेपी और रांची में हिंदूवादी संगठनों की ओर से मामला दर्ज कराया गया है.

X
महुआ मोइत्रा (फाइल फोटो)
महुआ मोइत्रा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मां काली पर बयान के बाद महुआ पर FIR
  • महुआ पर दिल्ली, असम और रांची में मामला दर्ज

मां काली पर बयान देने के बाद विवादों में घिरीं तृणमूल कांग्रेस की सांसद और प्रवक्ता महुआ मोइत्रा ने एक बार फिर बीजेपी पर हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि बीजेपी के सिर्फ देवी-देवताओं के लिए ही नहीं, प्लास्टिक कचरा प्रबंधन के नियमों के लिए भी दोहरे मापदंड हैं. 

महुआ मोइत्रा ने ट्वीट कर लिखा, "सिर्फ देवी-देवताओं के लिए ही नहीं, प्लास्टिक कचरा प्रबंधन के नियम भी भाजपा के दोहरे मापदंड! आरएसएस समर्थित लघु भारती के लिए नियमों में ढील दी गई, जबकि अमूल और पारले एग्रो को एकीकृत स्ट्रॉ के लिए छूट से इनकार किया." महुआ ने पर्यावरण मंत्रालय को टैग कर पूछा, लघु भारती से इतना प्यार कैसे? 

फाइल फोटो

असम, दिल्ली और झारखंड में FIR

वहीं टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ मां काली पर विवादित बयान देने पर असम, दिल्ली और रांची में शिकायत दर्ज कराई गई है. असम के हलैकंडी थाने में बजरंग दल की ओर से महुआ के खिलाफ हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए शिकायत दर्ज कराई गई है. इसके साथ ही दिल्ली के संसद मार्ग पुलिस थाने में बीजेपी की ओर से महुआ मोइत्रा और लीना मणिमेकलाई के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है. इसमें दिल्ली पुलिस से मांग की गई है कि दोनों ही आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए. किसी को भी धार्मिक उन्माद फैलाने का अधिकार नहीं है. झारखंड की राजधानी रांची में भी काली मां पर बनी फिल्म का विरोध शुरू हो गया है. रांची कोतवाली में लीना मणिमेकलई, आशा ओनाचलन और काली फिल्म के एडिटर श्रवण के खिलाफ FIR दर्ज कराई है. इस शिकायत में टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा का नाम भी दर्ज है. 

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में शामिल हुईं थी महुआ 

दरअसल, महुआ मोइत्रा मंगलवार को India Today Conclave East 2022 में शामिल हुई थीं. इस दौरान उन्होंने काली के पोस्टर को लेकर जारी विवाद पर कहा था कि काली के कई रूप हैं. मेरे लिए काली का मतलब मांस और शराब स्वीकार करने वाली देवी है. हालांकि, टीएमसी ने इस बयान दूरी बना ली थी और इसकी निंदा की थी. 

शशि थरूर ने किया था बचाव 

एक तरफ जहां महुआ के बयान से उनकी पार्टी ने पल्ला झाड़ लिया तो दूसरी तरफ कांग्रेस नेता शशि थरूर टीएमसी सांसद का समर्थन किया. शशि थरूर ने ट्वीट कर कहा कि महुआ मोइत्रा ने वही कहा जो हर हिंदू जानता है. शशि थरूर ने लिखा कि महुआ पर हो रहे हमलों ने मुझे अचंभे में डाल दिया है. ये हमले वह चीज कहने के लिए हो रहे हैं, जो कि हर हिंदू जानता है. हिंदू जानते हैं कि हमारी पूजा का तरीका देश के अलग-अलग हिस्सों में एक जैसा नहीं है. देवी को कोई क्या चढ़ाता है, यह देवी से ज्यादा भक्त के बारे में बताता है.  

पहले भी दर्ज हो चुकी हैं FIR 

महुआ के खिलाफ पहले भी कोलकाता और महुआ मोइत्रा के संसदीय क्षेत्र कृष्णानगर में शिकायत दर्ज कराई जा चुकी हैं. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भी महुआ मोइत्रा पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है. इन FIR के बाद महुआ ने कहा था कि चाहे जितनी दर्ज करा लो, आप सबसे कोर्ट में मिलूंगी. 

कनाडा में रहती हैं फिल्म मेकर 

फिल्म काली का विवादित पोस्टर जारी करने वाीलीं फिल्म मेकर लीना कनाडा में रहती हैं और सालों से फिल्म बना रही हैं. उनकी ये डॉक्यूमेंट्री फिल्म कनाडा में दिखाई जाएगी. लीना के मुताबिक, उनकी डॉक्यूमेंट्री फिल्म टोरंटो में 'अंडर द टेंट' प्रोजेक्ट का हिस्सा है. लीना ने सोशल मीडिया पर 2 जुलाई को इसका पोस्टर रिलीज किया था. पोस्टर सामने आने के बाद #ArrestLeenaManimekalai ट्रेंड कर रहा है. विवाद बढ़ने के बाद कनाडा में भारतीय उच्च आयोग ने भी आपत्ति दर्ज कराई है. भारतीय उच्च आयोग ने इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग की है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें