scorecardresearch
 

अंखी दास ने फेसबुक छोड़ा, कांग्रेस बोली- सिर्फ एक को बदलने से मामला हल नहीं होगा

कांग्रेस ने फेसबुक इंडिया की लीडरशिप में बदलाव का स्वागत किया है. हालांकि कांग्रेस ने यह भी कहा कि सिर्फ किसी एक शख्स को बदलने से मामला हल नहीं होगा.

फेसबुक इंडिया की लीडरशिप में बदलाव का कांग्रेस ने किया स्वागत (फोटो-PTI) फेसबुक इंडिया की लीडरशिप में बदलाव का कांग्रेस ने किया स्वागत (फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फेसबुक इंडिया की लीडरशिप में बदलाव का स्वागत
  • कंपनी अपनी संचालन प्रक्रिया में सुधार करे- कांग्रेस
  • इस मुद्दे पर कांग्रेस ने जकरबर्ग को भी लिखा था पत्र

कांग्रेस ने फेसबुक इंडिया की लीडरशिप में बदलाव का स्वागत किया है. हालांकि कांग्रेस ने यह भी कहा कि सिर्फ किसी एक शख्स को बदलने से मामला हल नहीं होगा.  

कांग्रेस ने कहा कि फेसबुक को अपनी संस्थागत प्रक्रियाओं और स्थायी संचालन प्रक्रियाओं में गहन सुधार के माध्यम से अपनी निष्पक्षता प्रदर्शित करनी चाहिए, ताकि किसी व्यक्ति की सनक और राजनीतिक झुकाव से संतुलन प्रभावित न हो. 

कांग्रेस पार्टी ने जारी बयान में कहा कि फेसबुक को भारत के सामाजिक सौहार्द को खतरे में डालने वाले प्लेटफॉर्म पर गलत कंटेंट, ध्रुवीकरण और नफरत फैलाने वाली खबरों, सामग्री को रोकने के लिए उठाए गए कदमों को भी रेखांकित करना चाहिए. 

फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी हेड अंखी दास के फेसबुक से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस ने बयान जारी कर यह बात कही है. कुछ दिन पहले अंखी दास का नाम तब सुर्खियों में आया जब अमेरिकी अखबार वाल स्ट्रीट जर्नल ने एक रिपोर्ट छापी थी.

कांग्रेस ने फेसबुक पर सांप्रदायिक सामग्री डालने और उसके खिलाफ कार्रवाई न करने पर कंपनी के प्रमुख मार्क जुकरबर्ग को पत्र लिखा. इसके साथ ही डेटा प्रोटेक्शन बिल पर बनी संसद की संयुक्त समिति ने भी लगभग 2 घंटे फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी हेड रहीं अंखी दास से पूछताछ की थी. 

देखें: आजतक LIVE TV

बता दें कि कुछ दिन पहले वाल स्ट्रीट जर्नल ने एक रिपोर्ट में दावा किया था कि कैसे बीजेपी से जुड़े नेताओं की हेट स्पीच पर फेसबुक ने दोहरे मापदंड अपनाए. ये कहा गया कि अंखी दास ने बीजेपी से जुड़े ऐसे नेताओं की हेट स्पीच पर बैन लगाने का विरोध किया. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें