scorecardresearch
 

Solar Eclipse 2021: भारत में पड़ा आंशिक सूर्य ग्रहण, सिर्फ लद्दाख और अरुणाचल में ही आया नजर

Surya Grahan: ये सूर्य ग्रहण उत्तरी अमेरिका, यूरोप और एशिया में आंशिक जबकि उत्तरी कनाडा, ग्रीनलैंड और रूस में पूर्ण रूप से दिखाई दिया. हालांकि, भारत में ये बस लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में ही आंशिक रूप से दिखाई दिया.

लद्दाख में दिखा सूर्य ग्रहण लद्दाख में दिखा सूर्य ग्रहण
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत में ज्यादातर जगहों पर सूर्य ग्रहण नहीं दिखा
  • सिर्फ लद्दाख और अरुणाचल में दिखा सूर्य ग्रहण

सूर्यग्रहण का नजारा गुरुवार (10 जून) को दुनिया के कई देशों में देखा गया. ये साल का पहला सूर्य ग्रहण था. भारत में ये सिर्फ लद्दाख और अरुणाचल में ही नजर आया. यानी कि भारत में ज्यादातर जगहों पर सूर्य ग्रहण नहीं दिखा, सिर्फ अरुणाचल और लद्दाख में ही आंशिक तौर पर दिखाई दिया. 

ये सूर्य ग्रहण उत्तरी अमेरिका, यूरोप और एशिया में आंशिक जबकि उत्तरी कनाडा, ग्रीनलैंड और रुस में पूर्ण रूप से दिखाई दिया. हालांकि, भारत में ये बस लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में ही आंशिक रूप से दिखाई दिया.

भारत में ज्यादातर जगहों पर सूर्य ग्रहण नहीं दिखा. सूर्य ग्रहण देखने के मामले में कनाडा के लोग खुशकिस्मत रहे क्योंकि यहां सूर्य ग्रहण का सबसे बेहतरीन नजारा देखने को मिला. कुछ लोग सूर्य ग्रहण के दौरान 'रिंग ऑफ फायर' का नजारा भी ले सके. 

क्या होता है सूर्य ग्रहण?
बता दें कि जब पृथ्वी और सूर्य के बीच चंद्रमा आ जाता है तो इसे सूर्यग्रहण कहते हैं. इस दौरान सूर्य से आने वाली किरणें (रोशनी) चंद्रमा के बीच में आ जाने की वजह से पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाती और चंद्रमा की छाया पृथ्वी पर पड़ने लगती है.

ज्यादातर एक साल में दो बार सूर्यग्रहण होता है, हालांकि ये संख्या बढ़ भी सकती है, लेकिन ऐसा बहुत कम होता है. कोई भी सूर्यग्रहण पृथ्वी के केवल कुछ इलाकों में ही दिखता है. दुनिया में कई जगहों पर पूर्ण सूर्य ग्रहण दिखाई देता है, तो कई जगहों पर आंशिक और कई देशों में ये वलयाकार के रूप में दिखा यानी ‘रिंग ऑफ फायर’ के रूप में दिखाई देता है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें