scorecardresearch
 

Weather Update: यूपी में भारी बारिश से अब तक 22 लोगों की मौत, मौसम को लेकर IMD ने दी ये चेतावनी

IMD Rainfall Alert: दिल्ली-एनसीआर और उत्तर प्रदेश के जिलों में बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. मौसम विभाग के अनुसार, यूपी, बिहार, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और ओडिशा में आज (शनिवार), 17 सितंबर को भी भारी  बारिश हो सकती है. उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के उत्तरी हिस्सों में भारी से बहुत भारी बरसात का पूर्वानुमान है. 

X
Heavy Rainfall Alert in Lucknow
Heavy Rainfall Alert in Lucknow

IMD Rainfall Alert: उत्तर भारत के राज्यों में बारिश की गतिविधियां जारी हैं. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के अलग-अलग जिलों में बारिश के कारण जनजीवन प्रभावित हुआ है. भारी बारिश के कारण यूपी में बीते 24 घंटे में 22 लोगों की मौत हो गई है. जिसमें बारिश के बीच लखनऊ में एक निर्माणाधीन दीवार गिरने से मलबे में दबकर नौ लोगों की जान गई है. लखनऊ समेत प्रदेश के विभिन्न जिलों में भारी बारिश के कारण कई इलाकों में जलजमाव की स्थिति है. इस बीच मौसम विभाग (IMD) ने अभी बारिश से राहत नहीं मिलने की संभावना जताई है.

IMD के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में बने लो प्रेशर के कारण यूपी, बिहार और उत्तराखंड के कई जिलों में बारिश की चेतावनी जारी की गई है. दिल्ली-एनसीआर और उत्तर प्रदेश के जिलों में बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. मौसम विभाग के अनुसार, यूपी, बिहार, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और ओडिशा में आज (शनिवार), 17 सितंबर को भी भारी  बारिश हो सकती है. उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के उत्तरी हिस्सों में भारी से बहुत भारी बरसात का पूर्वानुमान है. 

20 सितंबर तक बारिश का अनुमान

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, विदाई के वक्त मॉनसून उत्तर भारत के राज्यों पर मेहरबान है. मौसम विभाग ने बिहार, उत्तराखंड, यूपी में 20 सितंबर तक इसी तरह का मौसम रहने का अनुमान जताया है. यूपी में मौसम विभाग (IMD) की ओर से जारी चेतावनी के बाद लखनऊ प्रशासन अलर्ट है. 

यूपी में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की चेतावनी के बीच प्रदेश की राजधानी में एडवाइजरी जारी की गई है. घर से बाहर निकलने वाले लोगों को सावधान रहने का अलर्ट है.  बता दें कि बीते 48 घंटे से प्रदेश के कई जिलों में रुक रुक कर तेज बारिश हो रही है.

लखनऊ में कई इलाकों में जलभराव

लखनऊ में शुक्रवार सुबह तक हुई बरसात ने बीते 35 साल में सितंबर माह में हुई सबसे ज्यादा बारिश का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. बीते 15 घंटे में शुक्रवार सुबह तक 160.3 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी. भारी बारिश के चलते लखनऊ के निचले इलाकों में जलभराव है. नदी नालों में उफान के चलते रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है. बारिश और तेज हवा के चलते कुछ इलाकों में पेड़ और होर्डिंग भी गिरे. 

3 डिग्री तक गिरा राजधानी का पारा 
बता दें कि इसके पहले गुरुवारा को भी सुबह से शाम तक राजधानी लखनऊ में रुक-रुककर बारिश होती रही। पारा तीन डिग्री तक गिर गया। इलाकों में बिजली गुल हो गई। बारिश की वजह सड़कों पर जगह-जगह जाम लग गया। लोगों को भारी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ा। कई स्‍कूलों ने कल ही बारिश को देखते हुए दो दिन छुट्टी का ऐलान कर दिया था। 

इन जिलों में बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने गोरखपुर, संतकबीर नगर, कुशीनगर, सिद्धार्थनगर, गोंडा और आसपास के लिए शनिवार को येलो अलर्ट जारी किया है. जबकि बिजनौर, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी, बहराइच, बलिया, गाजीपुर और आसपास के जिलों में गरज के साथ आंधी बारिश का अलर्ट है.

मौसम विभाग के अनुसार, लंबे समय बाद उत्तर प्रदेश में मॉनसून सक्रिय हुआ है. पश्चिमी और मध्य उत्तर प्रदेश में आज, 17  भारी बारिश की संभावना है. स्काईमेट के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के मध्य भागों पर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. मॉनसून की ट्रफ रेखा बीकानेर, जयपुर से होते हुए उत्तर प्रदेश के मध्य भाग पर बने हुए गहरे निम्न दबाव के केंद्र से गुजरते हुए, गोरखपुर, पटना, पूर्णिया होते हुए असम तक जा रही है.

18 सितंबर को उत्तर पश्चिमी बंगाल की खाड़ी और उत्तरी ओडिशा तट पर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बन सकता है. जिसकी वजह से उत्तर भारत के राज्यों में हल्की से मध्यम जबकि कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने बंगाल, ओडिशा में भी बारिश की गतिविधियां जारी रहने की संभावना जताई है.

 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें