scorecardresearch
 

India Energy Forum में बोले पीएम मोदी- क्लीन एनर्जी में निवेश के लिए आएं भारत

India Energy Forum में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का एनर्जी फ्यूचर बहुत शानदार रहने वाला है. भारत तेजी से इस पर काम कर रहा है. आने वाले कुछ वर्षों में भारत में एनर्जी खपत दोगुनी हो जाएगी. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नीति आयोग और पेट्रोलियम मंत्रालय का कार्यक्रम
  • भारत वैश्विक तेल एवं गैस क्षेत्र में महत्वपूर्ण देश है
  • तेल-गैस कंपनियों के करीब 45 सीईओ शामिल हुए

India Energy Forum में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का एनर्जी फ्यूचर बहुत शानदार रहने वाला है. भारत तेजी से इस पर काम कर रहा है. आने वाले कुछ वर्षों में भारत में एनर्जी खपत दोगुनी हो जाएगी. उन्होंने कहा कि भारतीय बाजार को कोई नजरअंदाज नहीं कर सकता है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मंच से दुनियाभर के निवेशकों को क्लीन एनर्जी में निवेश के लिए आह्वान किया. उन्होंने कहा कि क्लीन एनर्जी में निवेश के लिए दुनिया में भारत सबसे बेहतर विकल्प बनकर उभरा है.

पीएम मोदी वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए इस कार्यक्रम में जुड़े. इसके अलावा कार्यक्रम में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी शामिल हुए. इस बैठक में प्रमुख तेल एवं गैस कंपनियों के करीब 45 सीईओ शामिल हुए हैं. 

पीएम मोदी ने कहा कि दुनियाभर की बड़ी तेल कंपनियों को एनर्जी सेक्टर को लेकर मंथन करने की जरूरत है. भारत हमेशा सहयोग के लिए तैयार है.  

प्रधानमंत्री ने कहा कि एनर्जी कोरिडोर बनाने का प्लान है. उन्होंने कहा कि भारत तीसरा बड़ा देश है, जहां डोमेस्टिक लेवल पर सबसे ज्यादा एनर्जी की खपत होती है. भारत वैश्विक तेल एवं गैस क्षेत्र में महत्वपूर्ण देश है. कच्चे तेल का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता है. भारत के वैश्विक तेल एवं गैस मूल्य श्रृंखला में एक सक्रिय भागीदारी बनने के इरादे से नीति आयोग ने सबसे पहले 2016 में वैश्विक तेल एवं गैस कंपनियों के सीईओ की गोलमैज बैठक का आयोजन किया था.

इस वार्षिक कार्यक्रम का आयोजन नीति आयोग और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने कराया. पीएमओ ने एक बयान में कहा कि नीति आयोग और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय का ये 5वां कार्यक्रम है. इस गोलमेज बैठक में प्रमुख तेल एवं गैस कंपनियों के करीब 45 सीईओ शामिल हुए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें