scorecardresearch
 

पिता विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार, बेटा BJP सांसद, किसे देंगे वोट? जानिए जयंत सिन्हा का जवाब

जयंत सिन्हा झारखंड के हजारीबाग से बीजेपी के सांसद हैं. वे 2014 में भी इसी सीट से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में वे केंद्रीय मंत्री भी बने थे. हालांकि, 2019 में दोबारा चुनाव जीतने के बाद उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया. उन्होंने बताया कि लोग उनसे इस बारे में पूछ रहे हैं, इतना ही नहीं मीडिया में भी उनसे इस तरह के सवाल पूछे जा रहे हैं.

X
बीजेपी सांसद जयंत सिन्हा और यशवंत सिन्हा (फाइल फोटो) बीजेपी सांसद जयंत सिन्हा और यशवंत सिन्हा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को बनाया राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार
  • यशवंत सिन्हा के बेटे हैं जयंत सिन्हा

राष्ट्रपति चुनाव नजदीक आते आते बीजेपी सांसद जयंत सिन्हा असमंजस की स्थिति में नजर आ रहे हैं. दरअसल, उनके पिता यशवंत सिन्हा विपक्ष के राष्टपति उम्मीदवार हैं. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि वे एनडीए उम्मीदवार को वोट करेंगे या अपने पिता को? हालांकि, वोटिंग से पहले ही जयंत सिन्हा ने इस सवाल का जवाब देकर तमाम कयासों को खत्म कर दिया है. 

जयंत सिन्हा ने मंगलवार को कहा, वे बीजेपी सदस्य के तौर पर अपनी संवैधानिक जिम्मेदारियों को निभाएंगे. उन्होंने लोगों से अपील की कि वे उन्हें एक बेटे के तौर पर न देखें और न ही राष्ट्रपति चुनाव को पारिवारिक मुद्दा बनाएं. 

जयंत सिन्हा झारखंड के हजारीबाग से बीजेपी के सांसद हैं. वे 2014 में भी इसी सीट से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में वे केंद्रीय मंत्री भी बने थे. हालांकि, 2019 में दोबारा चुनाव जीतने के बाद उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया. उन्होंने बताया कि लोग उनसे इस बारे में पूछ रहे हैं, इतना ही नहीं मीडिया में भी उनसे इस तरह के सवाल पूछे जा रहे हैं. 

जयंत सिन्हा ने ट्वीट कर कहा, मैं सभी से अपील करता हूं कि मुझे एक बेटे के तौर पर न देखें और न ही इसे पारिवारिक मुद्दा बनाएं. मैं बीजेपी कार्यकर्ता हूं और हजारीबाग से सांसद हूं. मैं अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी को समझता हूं और उन्हें निभाऊंगा. 

दरअसल, 18 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होना है. एनडीए ने द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है. जबकि विपक्ष की ओर से यशवंत सिन्हा उम्मीदवार बनाए गए हैं. यशवंत सिन्हा बीजेपी के वरिष्ठ नेता रहे हैं. उन्होंने 2018 में बीजेपी से इस्तीफा दे दिया था. यशवंत सिन्हा मार्च 2021 में ही में टीएमसी में शामिल हुए थे. हालांकि, राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने के बाद उन्होंने टीएमसी से इस्तीफा दे दिया. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें