scorecardresearch
 

Independence Day: लाल किले की प्राचीर से 9वीं बार PM मोदी का संबोधन, जानें- अब तक के भाषणों में क्या बोले?

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने लाल किले की प्राचीर से 9वीं बार देश को संबोधित किया. आजादी के 75 साल पूरे होने पर देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. इस बार पीएम ने अपने भाषण में परिवारवाद, भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद पर जमकर हमला बोला. जानते हैं इससे पहले पीएम ने अपने भाषण में किस बात पर सबसे ज्यादा जोर दिया.

X
लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते पीएम मोदी (फोटो-PTI) लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते पीएम मोदी (फोटो-PTI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ पर लाल किले से तिरंगा फहराया. देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने देश की आजादी के लिए संघर्ष करने वाले, आहुति देने वाले, आजादी के बाद देश को बनाने वाले महापुरुषों को नमन किया. इतना ही नहीं, पीएम मोदी ने आजादी के 100 साल पूरे होने पर विकसित देश बनाने का संकल्प लेने की भी अपील की. पीएम मोदी ने लाल किले से 5 प्रण भी दिलाए, जिसमें विकसित भारत, गुलामी के हर अंश से मुक्ति का प्रण, विरासत पर गर्व और एकता के प्रण का जिक्र किया. आज पीएम मोदी ने देश को 9वीं बार संबोधित किया. हालांकि उनसे ज्यादा बार भाषण देने वाले प्रधानमंत्रियों में जवाहर लाल नेहरू (17 बार), इंदिरा गांधी (16 बार) और डॉ. मनमोहन सिंह (10 बार) हैं. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन शब्दों पर सबसे ज्यादा फोकस किया

2022: देश आजादी के 75 साल पूरे होने पर आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. इस मौके पर पीएम मोदी ने 32 बार 'अमृतकाल', 31 बार 'भारत', 26 बार 'संकल्प', 24 बार 'सपने',  16 बार 'महिलाएं', 17 बार भ्रष्टाचार, 23 बार 'दुनिया', 13 बार 'आत्मनिर्भर', 15 बार '130 करोड़', 13 बार 'विकास' शब्द का जिक्र किया.
 

 

पीएम मोदी ने अपनी स्पीच में 10 बार 'आकांक्षा', 24 बार '75 साल', 13 बार 'पंच प्राण', 16 बार 'गर्व', 11 बार 'गुलामी', 17 बार 'आजादी', 22 बार 'क्षमता', 6 बार 'लोकतंत्र', 12 बार 'महापुरुष', 17 बार 'परिवारवाद', 10 बार 'सामूहिक चेतना', 9 बार 'एकता', 11 बार 'लाल किला', 8 बार 'सेना', 6 बार 'शक्ति', 9 बार 'डिजिटल', 8 बार 'युवा', 6 बार 'योजना', 7 बार 'कृषि', 7 बार 'प्रतिभा', 15 बार 'नागरिक कर्तव्य', 8 बार 'तिरंगा' शब्द का इस्तेमाल किया.

पीएम मोदी ने पिछले भाषणों में किन शब्दों पर ज्यादा जोर दिया


2014: बतौर प्रधानमंत्री लाल किले से मोदी ने अपने पहले भाषण में सबसे ज्यादा 52 बार 'सरकार' शब्द का इस्तेमाल किया था. उसके बाद 31 बार 'लोग' और 23 बार 'गांव' शब्द का इस्तेमाल किया था. वहीं, 'आयात' और 'सपना' शब्द 15-15 बार कहा था. इनके अलावा 14 बार 'युवा', 13 बार 'संसद', 10-10 बार 'विकास', 'गरीबी' और 'परिवार' शब्द का इस्तेमाल किया था. 5 बार 'अर्थव्यवस्था' कहा था. 

 

2015: दूसरे भाषण में भी मोदी ने सबसे ज्यादा 45 बार 'सरकार' शब्द का ही इस्तेमाल किया था. 'गरीब' शब्द का 37, 'विकास' और 'किसान' शब्द का इस्तेमाल 23-23 बार किया था. इस भाषण में उन्होंने 18 बार 'भ्रष्टाचार' का जिक्र किया था. उसके अलावा 'मजदूरी' शब्द 16 बार, 'सपना', 'पैसा' और 'नागरिक' शब्द 14-14 बार कहा था. 8 बार 'अर्थव्यवस्था' शब्द का इस्तेमाल किया था. 

 

2016: इस बार भी पीएम ने सबसे ज्यादा 65 बार 'सरकार' शब्द ही कहा था. वहीं, 31 बार 'किसान', 29 बार 'स्वतंत्रता', 14-14 बार 'गरीब' और 'संस्कृति' शब्द का इस्तेमाल किया था. इनके अलावा 12-12 बार 'गांव', 'सपना' और 'बिजली', 11-11 बार 'आर्थिक' और 'समाज', 10-10 बार 'गरीबी' और 'विकास' शब्द का जिक्र किया था.

 

2017: चौथे भाषण में भी मोदी ने सबसे ज्यादा 27 बार 'सरकार' शब्द का ही जिक्र किया. उसके अलावा 16 बार 'स्वतंत्रता', 12-12 'गरीब' और 'किसान', 10 बार 'पैसा' और 9 बार 'युवा' शब्द का इस्तेमाल किया था. 6-6 बार 'भ्रष्टाचार', 'लोकतंत्र' और 'नोटबंदी' का भी जिक्र किया था. 5 बार 'महिला' शब्द का इस्तेमाल किया था.

 

2018: इस बार प्रधानमंत्री ने सबसे ज्यादा 34 बार 'गरीब' शब्द का इस्तेमाल किया था, जबकि 21 बार 'सरकार' कहा था. इस भाषण में उन्होंने 19 बार 'गांव', 16 बार 'महिला', 15 बार 'सपना' और 'विकसित', 13 बार 'किसान', 12 बार 'कृषि' और 11-11 बार 'नागरिक' और 'वैज्ञानिक' शब्द कहा था. 7 बार 'अर्थव्यवस्था' शब्द का इस्तेमाल किया था. 

 

2019: इस भाषण में मोदी ने 44 बार 'सपना' और 38 बार 'सरकार' शब्द का इस्तेमाल किया था. उसके बाद 32 बार 'पानी' शब्द कहा था. इनके अलावा 16 बार 'किसान', 15 बार 'अर्थव्यवस्था', 14-14 बार 'नागरिक' और 'विकसित', 10-10 बार 'गांव', 'शक्ति' और 'बच्चे' शब्द का इस्तेमाल किया था. 10 बार '5 ट्रिलियन' शब्द का भी जिक्र किया था. 

 

2020: इस बार मोदी का सबसे ज्यादा जोर 'नागरिक' और 'आत्मनिर्भर' शब्द पर रहा था. उन्होंने 32-32 बार 'नागरिक' और 'आत्मनिर्भर' शब्द का इस्तेमाल किया था. 25 बार 'कोरोना' का जिक्र किया था. इनके अलावा 24 बार 'स्वतंत्रता', 22 बार 'किसान', 21 बार 'महिलाएं', 16 बार 'मध्यम वर्ग', 15 बार 'गरीब', 11 बार 'सीमा' और 10 बार 'सेना' कहा था. 4 बार 'स्वास्थ्य' शब्द का इस्तेमाल किया था.

 

 

ये भी देखें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें